//

शिवराज का बड़ा बयान ,मुख्यमंत्री ने शादियां रोकने पर अपने भांजे-भांजियों से मांगी माफी,ब्लैक फंगल का इलाज भी करेंगे निशुल्क

भोपाल। कोरोना माहामारी के बढ़ते मामलों को मध्येनजर रखते हुए प्रदेश सरकार लोगों की आर्थिक स्थिति को समझती हुई नजर आ रही है । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हाल ही में कई लोगों की मदद के लिए आगे आए कोरोना से जिन लोगों की मृत्यु हुई और जिनके घर मे कोई कमाने वाला नही है उनकी देख रेख भी प्रदेश सरकार के नेतृत्व में होगी । सरकार द्वारा किसानों के खातों में भी पैसे डालें गए । एक बार फिर मुख्यमंत्री ने जनता के हित मे कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए ।

तीन-चार साल रहेगा कोरोना उस हिसाब से खुद को ढालना होगा

कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिम) की हायर सेकंडरी की परीक्षा स्थगित कर दी है। यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए की। मुख्यमंत्री ने शादियां रोकने के लिए अपने भांजे-भांजियों से माफी मांगते हुए कहा कि अभी जान बचाना जरूरी है। अभी शादियां नहीं होंगी। संक्रमण कम करना है। उन्होंने कहा कि कोरोना अभी तीन-चार साल रहेगा। उसके हिसाब से हमें खुद को ढालना होगा ।

कोरोना कर्फ्यू का पालन कराना कलेक्टर-कमिश्नर के वश की बात नहीं

मुख्यमंत्री ने गांव, वार्ड, ब्लॉक और जिला आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यों से कहा कि कोरोना कर्फ्यू का पालन आप कराएं। कलेक्टर-कमिश्नर के वश की बात नहीं। उन्होंने संक्रमण नियंत्रित करने में लापरवाही करने वाले जिलों को आगाह किया। उनसे कहा कि अभी ढिलाई नहीं। अभी चैन की सांस नहीं लेना है। पेयजल की समस्या को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि विधायक, सांसद मॉनीटरिंग करेंगे। जहां दिक्कत हो तुरंत अधिकारियों को बताएं ।

मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में अन्य महत्वपूर्ण बातें बताई

  • एक महीने में 800 डॉक्टर, 800 नर्स और 800 टेक्निशियन की भर्ती होगी।
  • 5000 ऑक्सीजन बिस्तर बढ़ा रहे हैं। 1000 आइसीयू बिस्तर बढ़ा रहे हैं। बधाों के लिए 500 बिस्तर आरक्षित रखेंगे। भविष्य की चुनौती की तैयारी रहेगी।
  • कोरोना वॉरियर्स का सम्मान करेंगे। एक मुश्त सम्मान निधि देंगे।
  • शून्य फीसद ब्याज दर पर दिए कर्ज की अदायगी अब 30 जून तक।
  • महिला स्व-सहायता समूहों को जनजागरण का जिम्मा। जागरुकता रथ निकालेंगे। जनता को शिक्षित करेंगे।
  • अनाथ बधाों को 5000 पेंशन, मुफ्त राशन और शिक्षा देंगे। व्यवसाय करने वालों को बगैर ब्याज कर्ज दिलाएंगे। जिला समिति अनाथ बच्‍चों की सूची बना लें। जो योजना बनाई है, उसे लागू करने में देरी नहीं करना चाहता।
  • पोस्ट कोविड सेंटर बना रहे हैं।
  • कर्मचारियों के लिए नई योजना लाई जा रही है।
  • 80-83 निजी अस्पतालों को छोड़कर शेष अनुबंधित कर लिए हैं।
  • ब्लैक फंगल का इलाज भी निशुल्क करेंगे। एंटी फंगल इंजेक्शन की व्यवस्था कर रहे हैं। उपलब्धता में दिक्कत आ रही है। कलेक्टर-एसपी ध्यान दें। इसकी भी कालाबाजारी न हो।
  • किसी परिवार में एक आयुष्मान कार्ड है, तो शेष के भी बनाकर लाभ दिया जाएगा।
  • गरीबों का निशुल्क इलाज जारी रहेगा।
  • कोरोना वार्ड का माहौल अच्छा रखें। मानसिक अवसाद में न आएं।
  • जिनकी एंटीबॉडी बन गई है, वे कोरोना वॉरियर्स के रूप में सेवाएं दें।
  • गांव और शहर में निशुल्क राशन की व्यवस्था की निगरानी आपदा प्रबंधन समिति करें और व्यवस्था बनाएं। भीड़ न लगे।
  • संक्रमित मजदूरों से मनरेगा के काम न कराएं। तेंदूपत्ता तुड़ाई संक्रमित न कर दे। पूरी सावधानी बरतें।