//

शिवराज का आरोप- एक एक पल की जानकारी रखते हैं दिग्विजय, कमलनाथ को उन्हीं ने निपटाया

भोपाल। पेगासस जासूसी कांड पर एमपी की राजनीति भी सरगर्म है। विपक्ष के लगातार सरकार को घेरने के बाद अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आरोपों का जवाब दिया है। उन्होंने कहा ये लोकतंत्र को बदनाम करने की गहरी साजिश है। यह झूठ की बुनियाद पर रची कहानी है। जासूसी हम नहीं करवाते बल्कि जासूसी करने का तो कांग्रेस का इतिहास रहा है।

इस जासूसी कांड पर उठ रहे सवालों का जवाब देने सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीएम हाउस में प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई। उन्होंने कहा यह झूठ की बुनियाद पर रची कहानी है। भारत सरकार को इस मामले से जोड़ने का एक भी साक्ष्य नहीं है। सच यह है कि भारत के प्रधानमंत्री के नेतृत्व में एक संपन्न भारत, एक समृद्ध भारत के निर्माण का संकल्प पूरा हुआ है। कुछ विदेशी ताकतें और कांग्रेसी मित्र उसे पचा नहीं पा रहे हैं। इसलिए यह सब संसद के मानसून सत्र के समय सोच समझ के किया गया है। एक दिन पहले इस मामले को लाया गया ताकि विकास के लिए जो 17 विधेयक प्रस्तुत होना है उन पर चर्चा न हो सके।

कांग्रेस का इतिहास जासूसी कराने का रहा है।

शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा आलू से सोना बनाने वाले राहुल गांधी का हम फोन टैप कराके क्या करेंगे। कांग्रेस का इतिहास जासूसी कराने का रहा है। कांग्रेस दल नहीं दलदल हो गया है। कमलनाथ को दिग्विजय सिंह ने निपटा दिया। वह एक-एक पल की जानकारी रखते थे। सरकार को पीछे से वही चलाते थे। उन्होंने कहा कमलनाथ, दिग्विजय सिंह के पास लिस्ट रहती है। उनके पास पैन ड्राइव और पेगासस की लिस्ट है। यह खुद जासूसी करवाते हैं। इनके पास लिस्ट है तो बोलते क्यों हैं जारी क्यों नहीं करते।