////

विक्रम विश्वविद्यालय में दो प्रोफ़ेसर के बीच हुई हाथापाई, देखे वीडियो

Start

उज्जैन। उज्जैन के विक्रम विश्वविद्यालय में दो प्रोफ़ेसर के बीच विवाद का मामला सामने आया है। दोनों में विवाद इस हद तक बढ़ा की नौबत हाथापाई तक पहुंच गई और एक प्रोफेसर के चेहरे से खून बहने लगा।

गरिमा हुई तार-तार

उज्जैन का विक्रम विश्व विद्यालय एक विख्यात विश्वविद्यालय है और यहां से हजारों छात्र हर साल तालीम हासिल करते हैं। इस यूनिवर्सिटी से उज्जैन शहर और आसपास के कई कॉलेज जुड़े हुए हैं, लेकिन इस विश्वविद्यालय की गरिमा उस वक्त तार-तार हो गई, जब एक मामूली विवाद को लेकर दो प्रोफेसर आपस में भिड़ गए। बात इस हद तक पहुंच गई की दोनों में हाथापाई हो गई और इस झगड़े में एक प्रोफेसर के चेहरे पर चोट भी आई।

क्लास के समय को लेकर हुआ विवाद

विश्वविद्यालय में हाथापाई करने वाले ये प्रोफ़ेसर डॉ कामरान सुल्तान और डॉ दीनदयाल बेदी है। दरअसल विवाद उस वक्त हुआ जब डॉ कामरान सुल्तान ने अपनी क्लास का समय दिन में रखने की बात कही, क्योंकि वो एलएलएम करना चाहते हैं। उनके क्लास के समय को लेकर डॉ दीनदयाल बेदी ने एतराज जताया और दोनों इस बात को लेकर चर्चा करने के लिए रजिस्टार के पास पंहुचे, लेकिन बात इस हद तक बढ़ी की दोनों आपस में भिड़ गए।

विवाद में जहां दिव्यांग प्रोफ़ेसर कामरान सुलतान के मुँह से खून निकलने लगा तो वहीं प्रोफ़ेसर दीनदयाल के कपड़े फट गए। कुलपति अखिलेश कुमार पांडेय ने बाद में दोनों को समझाइश दी और विवाद को सामान्य बताकर मामले का खात्मा कर दिया। कुलपति की चेतावनी के बाद दोनों प्रोफेसर के सुर बदल गए। कमरे के बाहर आकर कामरान ने कहा विवाद हुआ था, जबकि डॉ. बेदिया का कहना है कि सभी परिवार के सदस्य हैं आपस में खटपट होती रहती है।