/

Sawan Mas 2021: शिव को अतिप्रिय है सावन मास, जानिए क्या करें और क्या ना करें

Start

Sawan Mas 2021: सावन मास को देवादिदेव महादेव का प्रिय मास माना जाता है। शास्त्रोक्त मान्यता है कि इस मास में महादेव की आराधना करने से समस्त कष्टों का नाश होता है और इस लोक में सुख-समृद्धि की प्राप्ति होने के साथ परलोक में कैलाश पर्वत पर भोलेनाथ के चरणों में स्थान प्राप्त होता है।

सावन में करें ये काम

सावन मास में शिवभक्त भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए कई तरह को उपाय करते हैं। अपने भक्तों की भक्ति से प्रसन्न होकर भोलेनाथ उनके कष्टों का हरण करते हैं और उनको समृद्ध जीवन का आशीर्वाद देते हैं। सावन में कुछ विशेष उपाय करने से भक्तों का मनोकामनाएं शीघ्र पूर्ण होती है। मान्यता है कि सावन मास में महादेव को धतूरा, बेलपत्र, भांग, श्वेत पुष्प, अक्षत आदि समर्पित करना चाहिए। एक तांबे लोटे में जल भरकर शिवलिंग का जलाभिषेक करना चाहिए। दूध और दूध से बने पदार्थों का दान करने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं। पार्थिव शिवलिंग का निर्माण कर उनकी पूजा करें। महादेव के साथ देवी पार्वती की पूजा करें और सूर्योदय के अलावा संध्याकाल में आरती करें। पूरे सावन मास ‘ओम नम: शिवाय’ का जितना ज्यादा हो सके जाप करें। इस मास में यदि दरवाजे पर सांड आ जाए तो उसका कुछ खाने के लिए अवश्य दें।

इन कार्यों का करें त्याग

सावन मास में कुछ बातों का खास ख्याल रखना भी बेहद जरूरी है। इस मास में सात्विक रहें और ब्रह्मचर्य का पालन करें। मांस-मदिरा और प्याज, लहसुन का सेवन ना करें। शौर कर्म यानी दाढ़ी-मूंछ और बाल नहीं कटवाएं। शरीर पर तेल ना लगाएं। कांसे के बर्तन में भोजन का त्याग करें। सावन मास में दिन के समय नहीं सोना चाहिए। सावन के महीने में बैंगन नहीं खाना चाह‌िए। बैंगन को अशुद्ध माना गया है। सावन के महीने में दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। शिवलिंग पर हल्दी और केतकी का फूल नहीं चढ़ाना चाहिए।