/

Sawan 2021: इन शास्त्रोक्त विधानों से करे शिव साधना, पूरी होगी हर मनोकामना

Start

Sawan 2021: शास्त्रों में शिव पूजा का विशेष महत्व बतलाया गया है। महादेव जगत के दाता और कल्याणकर्ता हैं। उनकी कृपा से संसार चलता है और उनके आशीर्वाद से देवी-देवता, यक्ष, किन्नर, गंधर्व, नाग, असुर आदि अपनी मनोकामनाए पूर्ण करते हैं। शिवपूजा में कुछ बातों का खास ख्याल रखना पड़ता है। इससे शिवभक्त को महादेव की कृपा प्राप्त होती है।

  • महादेव की पूजा करते समय भक्त को ललाट पर लाल चंदन का त्रिपुण्ड और बाहों पर भस्म अवश्य लगाना चाहिए.
  • शिवमंत्रों का जाप करने में रुद्राक्ष माला का उपयोग करना चाहिए.
  • शिवपूजा में भक्तों को श्वेत पुष्प, तूरे का फूल और तीन पत्तियों वाला बेलपत्र समर्पित कर जलधारा चढ़ाना चाहिए.
  • शिवपूजा करते समय शिव पंचाक्षरी मंत्र “ओम नम: शिवाय” मंत्र का जाप जरूर करना चाहिए.
  • महादेव आराधना करते समय सोला धारण करना चाहिए.
  • भगवान शिव की पूजा करते समय आपका मुख हमेशा पूर्व या उत्तर की तरफ होना चाहिए.
  • महादेव को भांग अतिप्रिय है इसलिए भोलेनाथ को भांग का भोग लगाएं.
  • महादेव को श्वेत मिठाई, ऋतुफल, नारियल, पंचामृत और पंचमेवा का भोग लगाएं.
  • भगवान शिव की पूजा में कुटज, नागकेसर, बंधूक, मालती, चंपा, चमेली, कुंद, जूही, केतकी, केवड़ा आदि फूल नहीं चढ़ाना चाहिए.
  • रुद्राष्टक, शिवमहिम्न स्त्रोत, लिंगाष्टक आदि का पाठ शिवभक्ति के लिए करना चाहिए।
  • शिवलिंग पर चढ़ाया गया नैवेद्य ग्रहण नहीं करना चाहिए।