//

मिनटों में 2 करोड़ से 18.5 करोड़ की हो गई जमीन, राम जन्मभूमि ट्रस्ट पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप

राम जन्मभूमि ट्रस्ट पर जमीन खरीदने में घोटाले का आरोप लगाया गया है।

अयोध्या: राम जन्मभूमि ट्रस्ट पर राम मंदिर के लिए जमीन खरीदने में भारी भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। भ्रष्टाचार के आरोप समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी ने लगाए हैं।

मीडिया में किए दस्तावेज पेश

दोनों दलों नें प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आरोप लगाए कि ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने, जो जमीन कुछ समय पहले सिर्फ दो करोड़ रुपये में बिकी थी, उसको कुछ वक्त बाद 18.5 करोड़ रुपये में खरीदकर घोटाला किया है. वहीं आरोपों पर बोलते हुए चंपत राय ने कहा कि हम इन आरोपों की कोई चिंता नहीं करते हैं। समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री पवन पांडेय ने अयोध्या में मीडिया के सामने रजिस्ट्री के दस्तावेज पेश करते हुए आरोप लगाया कि रामजन्मभूमि की जमीन से लगी एक जमीन पुजारी हरीश पाठक और उनकी पत्नी ने 18 मार्च की शाम सुल्तान अंसारी और रवि मोहन को दो करोड़ में बेची थी. वही जमीन सिर्फ कुछ मिनट बाद चंपत राय ने राम जन्मभूमि ट्रस्ट की तरफ से 18.5 करोड़ रुपये में खरीद ली।

ट्रस्ट पर घोटाले का आरोप

इसी तरह के आरोप आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लगाए। उन्होंने कहा कि 5 मिनट में जमीन 16.5 करोड़ रुपये महंगी हो गई, जो विश्व रिकॉर्ड है। मिनटों में 5.5 लाख रुपये प्रति सेकेंड जमीन का दाम बढ़ गया. हिंदुस्तान क्या दुनिया में कहीं कोई जमीन एक सेकेंड में इतनी महंगी नहीं हुई होगी। पवन पांडेय ने कहा, ‘इसका मतलब यह हुआ कि जब बैनामा हुआ तब ट्रस्टी गवाह थे, जब रजिस्टर्ड एग्रीमेंट हुआ, तब भी ट्रस्टी गवाह थे. यानी ट्रस्ट भ्रष्टाचार में लिप्त है.’ दोनों दलों ने इस मामले की जांच की मांग की है।