//

तीसरी लहर से बच्चों को होने वाले संक्रमण को रोकने के लिए ,अशोकनगर में बनाए गए बच्चों के पसंदीदा वार्ड

अशोकनगर में बनाए गए बच्चों के पसंदीदा वार्ड

अशोकनगर। भारत में कोरोना की आई दूसरी लहर ने देश एवं प्रदेश को हिला कर रख दिया। एकदम बड़ी मरीजों की संख्या से अस्पतालों की व्यवस्थाएं भी चरमरा गई पूरे देश ने ऐसा भयानक मंजर इस महामारी के दौरान देखा कि लोगों की रूह कांप गई। अस्पतालों में ऐसी स्थिति थी की मरीजों को ना तो पर्याप्त मात्रा में दवाइयां उपलब्ध हो पा रही थी और ना ही ऑक्सीजन , अशोकनगर जिला भी इस महामारी से बच नहीं पाया यहां भी भारी मात्रा में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीज पाए गए ,जिला चिकित्सालय की हालत यह थी कि ना तो ऑक्सीजन थी और ना दवाइयां जनप्रतिनिधियों के सहयोग से जैसे तैसे व्यवस्थाओं को मैनेज किया गया। इस भयानक बीमारी ने कई लोगों की जान भी ले ली दूसरी लहर पूरी तरीके से समाप्त नहीं हो पाई और उधर जानकार कहने लगे कि तीसरी लहर की भी शुरुआत देश में होने लगी है और यह तीसरी लहर छोटे बच्चों को सबसे ज्यादा संक्रमित करेगी। जिसको देखते हुए अशोकनगर के क्षेत्रीय विधायक जजपाल सिंह ने जिला चिकित्सालय में तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है।

दूसरी लहर जैसी समस्याएं उत्पन्न ना हो दवाइयों की भी पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है

विधायक जजपाल सिंह जज्जी ने बताया कि तीसरी लहर में बच्चों को संक्रमण का अधिक खतरा होने की बात कही जा रही है इसीलिए जिला चिकित्सालय में बच्चों के लिए स्पेशल वार्ड तैयार कर लिया गया है। 15 बेड का यह वार्ड पूर्ण सुविधा युक्त है। इस वार्ड को क्षेत्रीय विधायक द्वारा निजी एवं समाजसेवी लोगों की मदद से तैयार किया गया है। बच्चों के लिए तैयार किया गया यह वार्ड सर्व सुविधा युक्त है इस बार्ड में पर्दे भी बच्चों के हिसाब से लगाए गए हैं। इतना ही नहीं बच्चों के मनोरंजन के लिए टीवी भी इस वार्ड में लगाई जा रही है। जिसमें बच्चों के कार्यक्रमों को चलाया जाएगा। जजपाल सिंह ने बताया कि जिले में एक शिशु रोग विशेषज्ञ भी पोस्टिंग करा ली गई है। अगर तीसरी लहर आती है तो उससे निपटने के लिए तैयारियां पूर्ण की जा रही है जिससे दूसरी लहर जैसी समस्याएं उत्पन्न ना हो दवाओं की भी पर्याप्त व्यवस्था जिला चिकित्सालय में की जा रही है। हर संभव प्रयास किया जाएगा जिससे यह बीमारी अब पैर ना पसार सके।