////

Pravasi Bhartiya Divas Convention: प्रधानमंत्री मोदी ने फिर दोहराया आत्मनिर्भर भारत का नारा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 16वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन की शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने कोरोना महामारी का जिक्र करते हुए कहा कि भारतीयों ने इस मुश्किल दौर में जिस तरह का समर्पण और सेवाभाव दिखाया, उससे गर्व होता है। मोदी ने आगे कहा कि आज दुनिया के कोने-कोने से हमें भले इंटरनेट से जोड़ा गया है. लेकिन हम सबका मन हमेशा से मां भारती से जुड़ा है, एक दूसरे के प्रति अपनत्व से जुड़ा है।

पीएम मोदी ने की प्रवासी भारतीयों की तारीफ

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में प्रवासी भारतीयों की तारीफ करते हुए कहा कि इनकी वजह से देश की पहचान दुनिया में मजबूत हुई है। बीते समय में कई हेड ऑफ स्टेट्स से बात हुई। उन लोगों ने कठिन समय में किस तरह सेवाभाव बनाए रखा, इससे गर्व होता है। आपके संस्कार दुनिया के हर कोने में दिख रहे हैं। जहां आप रह रहे हैं, वहां और भारत में भी कोरोना से लड़ाई में सहयोग दिया है। संत तिरुवल्लुवर ने तमिल में कहा था कि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ भूमि वो है जो विरोधियों से भी बुराई नहीं करती और सबकी भलाई के लिए काम करती है।

भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए तकनीक का इस्तेमाल

भारत आज करप्शन को खत्म करने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहा है। पैसे आज सीधे लाभार्थी के खाते में पहुंच रहे हैं। टेक्नोलॉजी से गरीब को एम्पावर की चर्चा पूरे विश्व में हैं। पहले आशंकाएं जताई गई थीं कि भारत अलग-अलग होने के चलते आजाद नहीं हो सकता, लेकिन ये गलत साबित हुआ। आजादी के बाद ये कहा गया कि यहां डेमोक्रेसी नहीं हो सकती। ये भी गलत साबित हुआ।