//

बजरंगी भाईजान की भूमिका में नजर आ रही पुलिस

भोपाल। राजधानी पुलिस इन दिनों बजरंगी भाईजान की भूमिका में नजर आ रही है। पुलिस द्वारा जिले भर से लापता सैकड़ों बच्चों में से अब तक 76 बच्चों को पुलिस ने दस्तयाब कर परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस विभाग ने 15 जुलाई से ऑपरेशन मुस्कान अभियान शुरू किया है। अभियान के तहत बच्चों का पता लगाने के लिए बनाई गई टीम प्रदेश के साथ अन्य राज्यों में भी दस्तक दे रही है।

बच्चों की लोकेशन मिलने पर टीम संबंधित स्थान के लिए रवाना हो जाती है

ऑपरेशन मुस्कान के नोडल अधिकारी एएसपी राजेश सिंह भदोरिया ने जानकारी देते हुए बताया कि भोपाल पुलिस की पूरी टीम इस अभियान को लेकर काम कर रही हैं। उन्होंने कहा कि राजधानी के विभिन्न‌ थाना क्षेत्रों से लापता बच्चों का पता लगाने के लिए थाना स्तर पर टीम का गठन किया गया है। बच्चों की लोकेशन मिलने पर टीम संबंधित स्थान के लिए रवाना हो जाती है और बच्चों को वापस लाकर उनके परिजनों के सुपुर्द करती है। लापता बच्चों को वापस लाने में राजधानी पुलिस अव्वल रही हैं। अब तक 76 बच्चों को पुलिस ने अपने परिजनों को सौंपा हैं। मालूम हो कि मध्यप्रदेश में सालों से लापता बच्चों को ढूंढ़ने के लिए ऑपरेशन मुस्कान चलाया जा रहा है।

भोपाल में 14 साल में सैकड़ों बच्चे लापता हुए

बतादें कि राजधानी भोपाल में 2007 से लेकर 2021 तक यानी 14 साल में सैकड़ों बच्चे लापता हुए। इनमें से अब 201 लापता बच्चों को चिन्हित किया गया है। इन बच्चों में सबसे ज्यादा 148 लड़कियां शामिल हैं। जबकि लड़कों की संख्या सिर्फ 53 ही है।

भोपाल से मृदुभाषी के लिए मोहम्मद ताहिर खान की रिपोर्ट