////

इस पूर्व पार्षद को फर्जी साइन करना पड़ा भारी, हुई ऐसी कार्रवाई

पूर्व पार्षद इफ्तेखार अंसारी ने फर्जी अनुमति पेश की थी।

इंदौर। शहर के पूर्व पार्षद इफ्तेखार अंसारी पर कोतवाली थाना पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। आरोप है कि अंसारी ने शासकीय स्कूल में बसें खड़ी करने के लिए कलेक्टर कार्यालय की फर्जी अनुमति बना कर पेश की थी। अंसारी के विरुद्ध पूर्व पार्षद अंसाफ अंसारी द्वारा लिखित शिकायत दर्ज करवाई गई थी।

फर्जी अनुमति बनाने का है आरोप

अंसाफ अंसारी की शिकायत पर दौलतगंज निवासी मुन्ना उर्फ इफ्तेखार अंसारी के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। अंसारी हाथीपाला स्थित शासकीय उर्दू स्कूल में बसें खड़ी करता था। जब प्राचार्य द्वारा बसें खड़ी करने के लिए अनुमति पत्र मांगा तो कलेक्टर कार्यालय की अनुमति पेश कर दी। मामले की शिकायत पर आइजी हरिनाराणाचारी मिश्र ने जांच बैठाई और बुधवार रात कोतवाली थाना पुलिस ने केस दर्ज कर लिया।

पुलिस ने मामला दर्ज कर तलाश की शुरू

सिटी बस इंचार्ज का फर्जी अनुमति पत्र बनाकर हाथीपाला स्थित उर्दू स्कूल के प्राचार्य को दिया गया, वही पूरे मामले में आरोपी की तलाश की जा रही है।