/

अवैध शराब के कारोबार से खड़े किए साम्राज्य को पुलिस ने किया ध्वस्त

बड़वाह। जहरीली शराब कांड के मुख्य आरोपी कालका प्रसाद को पुलिस ने जेल भेज दिया है। वहीं कालका को कच्चा माल ढ़क्कन और होलोग्राम उपलब्ध कराने वाले दो अन्य आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है। शुक्रवार को प्रशासन ने कालका द्वारा अवैध शराब के कारोबार से खड़े किए होटल और मकान पर कार्रवाई करते हुए उन्हें कर ध्वस्त दिया।

होटल की कीमत करीब एक करोड़ रूपए थी

पुनासा एसडीएम चंदरसिंह सोलंकी ने बताया कि प्रदेश में अवैध शराब माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत शुक्रवार को कलेक्टर और एसपी के निर्देशन पर कार्रवाई शुरू की गई। एसडीएम ने बताया कि कालका प्रसाद भी अवैध शराब माफिया है। जिसने मोरघड़ी स्थित प्रेमनगर में रहवासी क्षेत्र में चंदन होटल बना रखी थी। होटल की कीमत करीब एक करोड़ रूपए थी।

कार्रवाई देख इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर लोगों की भीड़ उमड़ गई

एसडीएम ने बताया कि होटल बनाने की कोई अनुमति ग्राम पंचायत से नहीं ली गई थी। इसके अलावा रहवासी क्षेत्र में होटल का निर्माण किया गया था। अतिक्रमण में बना होने से इसे तोड़ दिया। इसके अलावा अवैध मकान का निर्माण भी किया गया था। जो 15 लाख रूपए का था, उसे भी तोड़ दिया। सुबह करीब 11 बजे कार्रवाई शुरू हुई। जो शाम करीब 4 बजे तक चली। कार्रवाई के दौरान 40 से अधिक पुलिसबल भी मौजूद था। शुक्रवार सुबह 11 बजे प्रशासन ने जैसे ही कालका प्रसाद के होटल को तोडऩे की कार्रवाई शुरू की इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर लोगों की भीड़ उमड़ गई। हर कोई प्रशासन की कार्रवाई देखने लगा। होटल और मकान को तोडऩे के लिए 3 से 4 जेसीबी लगाई गई थी। एसडीएम ने बताया कि अवैध संपत्ति की जानकारी मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। एसडीओपी राकेश कुमार पेंड्रो ने बताया कि कार्रवाई को देखते हुए पुलिस बल भी लगाया गया था।

बड़वाह से मृदुभाषी के लिए विपिन जैन की रिपोर्ट