////

नकली नोट छापकर देख रहा था अमीर बनने के ख्वाब, ऐसे फंसा पुलिस के शिकंजे में

Start

इंदौर: इंदौर क्राइम ब्रांच ने नकली नोट चलाने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है यह आरोपी सब्जी मंडी में जाकर नकली नोट खपाने का काम करता था आरोपी के पास से 100 , 500 व 2000 के कुल दो लाख 53 हजार के नकली नोट बरामद किए है।

आरोपी सब्जीमंडी में चलाता था नकली नोट

इन्दौर क्राइम ब्रांच को मुखबिर द्वारा सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति नोट छाप कर मार्केट में खपा रहा है और वह नोटों का बंडल साथ में लेकर सब्जी मंडी में खपाने जा रहा है। मुखबिर की सूचना की तस्दीक करने के बाद बताए गए हुलिए के आधार पर आरोपी को घेरा बंदी कर पकड़ा गया, जिसकी तलाशी में बड़ी मात्रा में नकली नोट पुलिस ने बरामद की है। पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम राजरतन पिता अनिल तायडे होना बताया वहीं आरोपी के पास एक बैग था जिसकी तलाशी लेने पर उसमें रखे 100 ,200 , 500 व 2000 के नकली नोट पुलिस ने बरामद किए हैं।

दो माह से छाप रहा था नकली नोट

वही आरोपी राजरत्न ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसका मुख्य उद्देश नोट चलाना होता था और उसके लिए वह स्थानीय ठेले और सब्जी वालों को अपना शिकार बनाता था। वहीं आरोपी की निशानदेही पर जब उसके घर की तलाशी ली गई तो वहां से नोट छापने का प्रिंटर , नोट हाई क्वालिटी का पेपर , ग्लास कटर , लैपटॉप व कई सामग्री जो नोट छापने के उपयोग में आती है उसे पुलिस ने बरामद किया है वहीं आरोपी पिछले दो माह से नोट बनाने का काम कर रहा था आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है कि इसमें अब तक कहां-कहां नोट कब चलाये हैं फिलहाल प्रथम दृष्टया आरोपी ने 20,000 रुपए इंदौर के सीमावर्ती गांवो में खपाना स्वीकार भी किए हैं।