/

पंचायत कर्मचारियों की हड़ताल, लोगों को हो रही परेशानियां

पंचायत

बडवाह. मप्र पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग संयुक्त मोर्चा के बैनर तले संगठनों के कर्मचारी-अधिकारी विभिन्न मांगों को लेकर सातवें दिन भी जनपद पंचायत कार्यालय परिसर में टेंट लगाकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे। इससे पूर्व 27 जुलाई को सभी संगठनों ने मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ, भाजपा नगर मण्डल अध्यक्ष चंद्रपालसिंह तोमर, जनपद पंचायत अध्यक्ष आनंदराम लोनकर और उपाध्यक्ष घीसालाल गुर्जर को सौंपा।

अपनी मांगों को पूरा करने सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

सचिव संघ जिलाध्यक्ष राजेन्द्र मकवाने, ब्लाक अध्यक्ष कैलाश चौधरी, यशवंत पाटिल ने कहा कि विगत 7 दिवस से जनपद पंचायत विकासखण्ड की 114 पंचायतों के सचिव, अधिकारियों व कर्मचारियों ने धरना प्रदर्शन करते हुए अपनी मांगों को पूरा करवाने के लिए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

विभागीय स्तर के सभी कार्य ठप

रोजगार सहायक सोनू कर्मा, रविन्द्र शाह, दुर्गेश चौहान, रविन्द्र गहलोत ने कहा कि संगठनों के अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने से विभागीय कार्यालयों के लंबित कार्य प्रभावित हो गए हैं। सभी  संगठनों से सम्बंधित कार्यालयों में कुछ अधिकारियों को छोडक़र कार्यालय में वीरानी पसरी है। कर्मचारियों के नहीं होने से विभागीय स्तर के सभी कार्य ठप है, वहीं अपनी समस्याओं से जुड़े हितग्राही भी बिना समस्याओं के निराकरण वापस लौटने पर विवश है।

कार्यालय कर्मचारी और अधिकारी अनिश्चितकालीन हड़ताल में शामिल

अनिल देशले, राजेश कानूनगो ने कहा कि संयुक्त मोर्चा के बैनर तले ग्राम रोजगार सहायक संघ, पंचायत सचिव संगठन, मनरेगा कर्मचारी संगठन, मप्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन कर्मचारी अधिकारी संघ, मुख्य कार्यापालन अधिकारी संगठन, अभियंता संघ, जिला/ जनपद पंचायत कर्मचारी संघ, मप्र पंचायत समन्वयक अधिकारी संघ, पीएम आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत डाटा इंट्री ऑपरेटर संघ, सोशल ऑडिट स्टाफ वेलफेयर एसोसिएसन, सहायक विस्तार अधिकारी संघ, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण संघ, पीएम आवास ग्रामीण संघ, मप्र कम्प्यूटर ऑपरेटर महासंघ, मध्याह्न भोजन ग्रामीण संघ, डीआरडी संघ, वॉटरशेड संविदा अधिकारी/ कर्मचारी संघ शामिल हैं। इस प्रकार शहरी और ग्रामीण अंचलों से सम्बंधित सभी कार्य के कार्यालय कर्मचारी और अधिकारी अनिश्चितकालीन हड़ताल में शामिल हैं।

जनपद पंचायत कार्यालय वीरान

जनपद पंचायत के सभी कार्यालय में विकासखण्ड पंचायत के सभी कार्यालयीन कक्ष में कुर्सियां खाली पड़ी है। टेबल पर किसी प्रकार के फाइल की पेंडेंसी का निराकरण नहीं हो रहे हैं। माना जाता है कि जिला पंचायत के छत के नीचे अनिश्चितकालीन हड़ताल में शामिल सभी विभागीय कार्य संचालित होते हैं। लेकिन अब इन अधिकारियों व कर्मचारियों के हड़ताल में शामिल होने के कारण यहां वीरानी पसरी हुई है।

बडवाह से मृदुभाषी के लिए विपिन जैन की रिपोर्ट