////

Oxford-AstraZeneca: ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन को भारत में मिल सकती है मंजूरी, जानिए इसकी खासियतें

भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन निर्माता देश है।

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के प्रकोप से जूझ रहे देशवासियों के लिए एक अच्छी खबर है। सुत्रों के अनुसार भारतीय नियामक अगले सप्ताह तक ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे सकता हैं। मंजूरी देने से पहले अधिकारियों ने स्थानीय निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट से कुछ जरूरी जानकारियां मांगी थी, जिस पर गंभीरता से विचार-विमर्श किया जा रहा है।

ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेने इस्तेमाल करने वाला भारत बन सकता है पहला देश

ब्रिटिश दवा नियामक फिलहाल ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेने की वैक्सीन को लेकर परीक्षण दौर में है, लेकिन यदि भारत इस वैक्सीन के इस्तेमाल की अनुमति देता है, तो वह इस वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की अनुमति देने वाला पहला देश बन जाएगा। गौरतलब है भारत दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीन निर्माता देश है और कोशिश की जा रही है कि अगले महीने से लोगों को टीका लगाने की प्रक्रिया शुरू हो जाए।

कम तापमान में लंबे समय तक रहता है संग्रहित

ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की खासियत यह है कि इसको निम्न-आय वाले देशों के लिए यह मुफिद है और गर्म जलवायु वाले लोगों के लिए यह कारगर है। ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन विकासशाल और गरीब देशों के बजट का वैक्सीन है और परिवहन में आसान होने के साथ इसको कम तापमान में लंबे समय तक संग्रहित किया जा सकता है। देश में अभी तक वैक्सीन आपूर्ति के किसी भी सौदे पर हस्ताक्षर नहीं किए है।