//

अब इंदौर का पेडमी बना गायों की कब्रगाह, जंगलों में फेंक रखे थे गायों के शव

Start

इंदौर। शहर के पास पेडमी में एक गौशाला की करीब 21 से अधिक गायें तालाब के पास जंगल में मृत मिली है। यहां गायों के अवशेष को कुत्ते और चील सहित अन्य जंगली जानवर नोच रहे थे। पता चलने पर गौ सेवक संघ से जुड़े लोगों ने यहां जमकर हंगामा किया। साथ ही गौशाला ट्रस्ट के सुपरवाइजर पर केस दर्ज कराया गया है।

मामला खुड़ैल इलाके के पेडमी के जंगलों का है। यहां अहिल्यामाता गौशाला जीवदया मंडल ट्रस्ट गायों की देखरेख के साथ उनकी जिम्मेदारी भी उठाता है। बुधवार को यहां अमावस होने के चलते गौ सेवक संघ के संयोजक मनोज तिवारी और उनके साथी पहुंचे थे। इस दौरान उन्हें गौशाला के पास पेडमी के जंगलों में कई मवेशियों के शव पड़े मिले।

मामले में गायों के इस तरह से जंगल में खुले में पड़े होने के चलते प्रशासन के अधिकारियों के साथ पशु विभाग और पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। तिवारी ने बताया कि किसी भी अधिकारी ने इस पर ध्यान नहीं दिया। बाद में संघ के कई पदाधिकारी और कार्यकर्ता पेडमी चौकी पहुंचे। यहां एसीपी अजय वाजपेयी से बात कर कारवाई की गई।

इस मामले में पुलिस ने अशोक पुत्र रामदीन पस्तोर निवासी द्वारकापुरी को आरोपी बनाया है। आरोपी पर 4, 6, 9 मध्यप्रदेश गौवंश प्रतिशेध के मामले में केस दर्ज किया गया है। गौ सेवक संघ के मनोज तिवारी ने बताया कि उन्होंने यहां से 21 गाय के जियो टैग बरामद किये है। जिन्हें पुलिस के सुपुर्द कर दिया है। तिवारी ने बताया गौशाला में गायें बुरी तरह से रह रही हैं। उनकी देखभाल नहीं की जा रही है। खाने के भी इंतजाम नहीं किये गए हैं। मामले में वरिष्ठ अधिकारियों ने सभी मवेशियो के शव का हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार करने की बात कही है।

इधर, इस मामले को लेकर कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने गौशाला प्रबंधन पर सवाल उठाए है। वही पेडमी की गौशाला में गायों की मौत की घटना प्रकाश में आने पर कलेक्टर मनीष सिंह ने एसडीएम प्रतुल चंद्र सिन्हा को जाँच के निर्देश दिए हैं।