////

इंदौर में बर्ड फ्लू की वजह से नॉन वेज पर लगा प्रतिबंध

इंदौर। देशभर मे फैल रहे बर्ड फ्लू के कारण शहर मे नॉनवेज की बिक्री पर आगामी आदेश तक पूर्ण रूप से प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। यह आदेश मुख्य रूप से पक्षियों मे फेल रहे वायरस H5N1 और एवियन इन्फ्लुएंजा के बढ़ते मामलो को देखते हुए जारी किया गया हैं। कलेक्टर एवं जिला दंडाअधिकारी श्री अवधेश शर्मा ने तत्काली प्रभाव से मांसाहार के व्यसाय पर रोक एवं जिले के मीट मार्केट, पोल्ट्री फार्म आदि में डिसइन्फेक्शन एवं सैनिटाइजेशन करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही मुर्गियों, कौओं, प्रवासी पक्षियों आदि में असामान्य मृत्यु एवं बीमारी की सूचना मिलने पर तत्काल सैंपल एकत्रीकरण और डिस्पोजल, डिसइन्फेक्शन, सैनिटाइजेशन की कार्यवाही के आदेश दिए गए। शहर में किसी भी प्रकार के पोल्ट्री परिवहन और स्थानांतरण पर भी रोक रहेगी।

H5N1से फैलता है बर्ड फ्लू

बर्ड फ्लू पक्षियों में होने वाली बीमारी है जो एक वायरस H5N1 के कारण फैलती है , जिसके पक्षियों के सम्पर्क में आने पर इंसानो में भी फैलने का अंदेशा है। अभी तक बर्ड फ्लू के मामले मध्यप्रदेश, राजस्थान , उत्तराखंड ,केरल ,गुजरात, महाराष्ट्र और हिमाचल में सामने आए हैं। गौरतलब है की देश में अचानक हजारों कौओ की मौत के बाद बर्ड फ्लू की पुष्टि की गई और इसके चलते निर्देश जारी कर लोगो से सतर्क रहने की अपील भी की है और कुछ दिनों तक लोगो से मांसाहार का सेवन न करने की बात कही है।

कम तापमान में पनपता है बर्ड फ्लू

बर्ड फ्लू के लक्षण भी बहुत हद तक कोरोना वायरस से मिलते जुलते हैं। इसके होने पर बुखार ,सिरदर्द ,गले में खराश, सर्दी जैसे लक्षण सामने आते हैं। इसकी मोर्टेलिटी रेट 60 फीसद तक है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन के अनुसार यह वायरस ज्यादा तापमान पर जीवित नहीं रह सकता। यह मुख्य रूप से प्रवासी पक्षियों से यह तक आया हैं।