///

700 जवानों पर नक्सलियों ने घात लगाकर ऐसे किया घातक हमला

Start

बस्तर। बस्तर के बीजापुर में शनिवार को हुए नक्सली हमले में शहीद होने वाले जवानों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है। शहीद जवानों में कोबरा बटालियन के 9, डीआरजी के 8,एसटीएफ के 6 और एक बस्तरिया बटालियन का जवान शामिल है। इस इलाके में नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए 2 हजार से ज्यादा जवान गए थे।

24 घंटे बाद पहुंची टीम

घटनास्थल पर चारों और शहीदों के शव बिखरे हुए थे। इलाका काफी दुर्गम होने की वजह से मुठभेड़ के 24 घंटे बाद बचाव और राहत टीम वहां पर पहुंची। रेस्क्यू टीम पर भी नक्सलियों ने हमला कर दिया। उन्होंने IED ब्लास्ट भी किया। जवानों के शव को लाने के लिए केंद्रीय एजेंसियों और एयरफोर्स की मदद मांगी गई है। नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए निकले करीब 700 जवानों को नक्सलियों ने बीजापुर के तर्रेम इलाके में जोनागुड़ा पहाड़ियों के पास घेर लिया था। मुठभेड़ करीब 3 घंटे चली जिसमें कुछ नक्सलियों के भी मारे जाने की खबर है।

जोनागुड़ा में बड़ी संख्या में थे नक्सली

इस जगह पर 20 दिन पहले UAV से प्राप्त तस्वीरों से बड़ी संख्या में नक्सलियों की मौजूदगी की जानकारी मिली थी। खुफिया सूत्रों के अनुसार जोनागुड़ा की पहाड़ियों पर नक्सलियों काफी संख्या में मौजूद थे। सूचना मिलने पर शुक्रवार रात को ही सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो, सीएरपीएफ बस्तरिया बटालियन और स्पेशल टास्क फोर्स के दो हजार जवानों ने ऑपरेशन शुरू किया था, लेकिन शनिवार को नक्सलियों ने जवानों को घेरकर हमला कर दिया। मुठभेड़ दोपहर करीब 12.30 बजे शुरू हुई और शाम करीब 5.30 बजे यानी 5 घंटे तक चली। इस दौरान हमले में नक्सलियों ने UGNL,रॉकेट लांन्चर, इंसास और AK-47 का उपयोग किया।