//

Monsoon 2021: भोपाल में बादल हुए मेहरबान, प्रदेश में आज ऐसा रहेगा मौसम का हाल

Start

भोपाल। मध्य प्रदेश में मानसून के दौरान लोकल सिस्टम बनने से बारिश हुई। बुधवार को राजधानी में गर्मी और उमस के बाद दोपहर में करीब आधे घंटे तक मूसलधार बारिश हुई। कई जगह पानी भर गया और लोग परेशान होते रहें। इसके अलावा सागर में भी बारिश हुई।

अरब सागर से आ रही है नमी

मौसम वैज्ञानिक पीके शाह ने बताया कि अरब सागर से नमी आ रही है। प्रदेश में सभी हिस्सों में बारिश की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में रीवा और शहडोल संभाग के जिलों में तेज बारिश की संभावना जताई है। इसके अलावा प्रदेश के सभी संभाग में गरज-चमक के साथ बारिश होने का अनुमान बताया है।

मजबूत सिस्टम का बना हुआ है अभाव

बुधवार सुबह से छाए काले-घने बादलों ने दोपहर होते-होते बरसना शुरू कर दिया। कुछ इलाकों में तेज तो कुछ इलाकों में रिमझिम बारिश हुई। मंगलवार को भी शाम के समय कुछ इलाकों में रिमझिम बारिश हुई थी। दरअसल, अरब सागर की ओर से नमी मिलने की वजह से बादलों की गतिविधि फिर शुरू हो गई है। अगले दो दिन में तेज बारिश के आसार हैं। इस बार मानसून घोषित होने के बाद भी बारिश रफ्तार नहीं पकड़ रही है। 10 से 15 मिनट की बारिश होकर थम जाती है। इस सीजन में अब तक एक भी मजबूत सिस्टम नहीं आया है। जून के बचे हुए दिनों में भी छिटपुट बारिश के ही आसार हैं।

उज्जैन में 44 MM हुई वर्षा

मौसम विभाग ने पिछले 24 घंटे में कई जगह बारिश दर्ज की। इसमें धार 102.8 एमएम, उज्जैन 44.0 एमएम, भोपाल 1.6 एमएम, भोपाल शहर में 14.6 एमएम, जबलपुर में 12.2 एमएम, सीधी 55.2 एमएम, खंडवा 14.0 एमएम, मलाजखंड 4.1 एमएम, उमरिया 2.8 एमएम, नरसिंहपुर 3.0 एमएम, सिवनी 7.4 एमएम, छिदवांडा 12.4 एमएम, बैतूल 6.2 एमएम, मंडला 8.0 एमएम, सतना 0.2 एमएम, होशंगाबाद 3.2 एमएम, पचमंढ़ी 5.0 एमएम, रायसेन 0.8 एमएम, दमोह 2.0 एमएम के अलावा गुना, शाजापुर में बारिश दर्ज की गई।