//

Monsoon 2021: मॉनसून में सेहत का रखें खास ख्याल, इस तरह के खाने से करें परहेज

Start

Monsoon 2021: मॉनसून का मौसम काफी सुहाना होता है और लोगों को रिमझिम बरसती फूहारें काफी मनभावन लगती है। ऐसे में लोगों की इच्छा जायकेदार, मसालेदार और स्वादिष्ट चाट और पकौड़ी खाने की होती है, लेकिन अपने शौक जरा सावधानी के साथ पूरा किजिए, क्योंकि इस मौसम में संक्रमण फैलने का खतरा काफी ज्यादा होता है और आपकी जरा सी लापरवाही आपको बीमार कर सकती है। इसलिए हम आपको बता रहे हैं की बारिश के मौसम में खान-पान मे कौनसी ऐहतियात बरतना जरूरी है।

चाट से करें परहेज

मॉनसून संक्रमण साथ लेकर आता है। इसलिए खुद को स्वस्थ और चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए स्वच्छ आहार लेना चाहिए। इस मौसम में चाट, समोसे से परहेज करना चाहिए, क्योंकि यह एक स्‍ट्रीट फूड है जो हर भारतीय को पसंद है।गोल गप्पा, भेल पुरी, दही पुरी आदि दूषित पानी से बने हो सकते हैं। इनको बनाने के दौरान प्रदूषित पानी के उपयोग की संभावनाएं काफी ज्यादा होती हैं। जो बीमारियों का कारण बन सकती हैं। इसके लिए अपने चाट के शौक को घर पर पूरा करें और घर पर चाट बनाकर स्वस्थ विकल्प चुन सकते है। इसमें आप बेहतर क्वालिटी के मसाले इस्तेमाल कर सकते हैं।

पत्‍तेदार सब्जियां

यह सर्वविदित है कि पत्तेदार सब्जियां स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी हैं। हालांकि, मानसून के दौरान पत्तेदार सब्जियों से परहेज करने की बात कही जाती है। पत्तियों में मौजूद नमी, गंदगी और मिट्टी कई रोगाणुओं के लिए अतिसंवेदनशील बनाती है, जिससे संक्रमण का खतरा हो सकता हैं। यदि हरी पत्तेदार सब्जिया जरूरी है, तो उन्हें खाना बनाने से पहले उन्हें ठीक तरह से धोकर ही पकाना चाहिए।

सड़क के किनारे बिकने वाले जूस

इस मौसम में सड़क पर बिकने वाले जूस सेहत के लिए काफी हानिकारक हो सकते हैं। खुले में बिकने वाले फलों के रस के मानसून के दौरान संक्रमित होने की काफी ज्यादा संभावना होती है। इसी प्रकार सड़कों पर कटे और बासी फल सलाद की खरीददारी ना करें, क्योंकि वे पहले से कट जाते हैं और संक्रमित हो सकते हैं। ताजे फल का उपयोग करके घर पर अपने रस तैयार करें और तत्काल उसको ग्रहण करें।