//

Modi Cabinet Expansion: ज्योतिरादित्य सिंधिया को मिला उड्डयन मंत्रालय, अनुराग ठाकुर को सौंपी प्रसारण मंत्रालय

Start

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट का बुधवार विस्तार (PM Narendra Modi Cabinet Expansion) सम्पन्न हो गया. 2019 में प्रधानमंत्री के पदभार ग्रहण करने के बाद पहली बार हुए इस फेरबदल में 43 नेताओं को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है. मंत्रियों के शपथ ग्रहण के बाद मंत्रालयों का बंटवारा भी हो गया है. नई कैबिनेट में 30 कैबिनेट मंत्री, 45 राज्य मंत्री जबकि 2 राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार को जिम्मेवारी सौंपी गई है. ऐसे में प्रधानमंत्री खुद विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय का काम देखेंगे. इसके साथ ही प्रधानमंत्री कार्मिक, लोक शिकायतें और पेंशन मामलों का मंत्रालय, आणविक ऊर्जा विभाग, अंतरिक्ष विभाग का जिम्मा संभालेंगे. इसके साथ ही साथ प्रधानमंत्री अन्य नीतिगत मामलों और ऐसे सभी विभागों का जिम्मा संभालेंगे जिसका जिम्मा किसी मंत्री को नहीं दिया गया है.

धर्मेंद्र प्रधान बने शिक्षा मंत्री

वहीं अमित शाह को गृह मंत्रालय के साथ साथ मिनिस्ट्री ऑफ को-ऑपरेशन का भी प्रभार दिया गया है. स्मृति ईरानी को महिला एवं बाल मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है. पियूष गोयल को टेक्सटाइल और फूड और कंज्यूमर अफेयर्स मंत्रालय का प्रभार दिया गया है. वहीं रमेश पोखरियाल निशंक की जगह धर्मेंद्र प्रधान को शिक्षा मंत्री बनाया गया है. वहीं मनसुख मांडविया को स्वास्थ्य एवं केमिकल फर्टिलाइजर मिनिस्ट्री दी गई है. नागरिक उड्डयन मंत्री के तौर पर कार्य कर रहे हरदीप सिंह पुरी को शहरी एवं नगर विकास मंत्रालय के साथ साथ पेट्रोलियम मंत्रालय का प्रभार दिया गया है. अनुराग ठाकुर को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के साथ साथ खेल और युवा मामलों का कार्यभार सौंपा गया है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया को दिया नागरिक उड्डयन मंत्रालय

वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया को नागरिक उड्डयन मंत्री बनाया गया है. अश्विनी वैष्णव को रेलवे और आईटी और संचार मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है. गिरिराज सिंह को ग्रामीण विकास मंत्रालय और पशुपति कुमार पारस को फूड प्रोसेसिंग मिनिस्ट्री का जिम्मा सौंपा गया है.

आरसीपी सिंह को स्टील मंत्रालय का जिम्मा

वीरेंद्र कुमार को सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्री बनाया गया है. आरसीपी सिंह को स्टील मंत्रालय का जिम्मा दिया गया है. किरन रिजीजू को कानून और न्याय मंत्री बनाया गया है. आरके सिंह को ऊर्जा मंत्रालय के साथ साथ नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय का जिम्मा दिया गया है. जी किशन रेड्डी को संस्कृति, पर्यटन और पूर्वोत्तर मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है.

भूपेंद्र यादव को दिया श्रम

सर्वानंद सोनेवाल को बंदरगाह, नौवहन और जलमार्ग मंत्रालय और आयुष मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया है. भूपेंद्र यादव को श्रम और पर्यावरण मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है. पुरुषोत्तम रुपाला को डेयरी और मत्स्य विकास मंत्रालय का प्रभार दिया गया है. मीनाक्षी लेखी को विदेश राज्य मंत्री का जिम्मा दिया गया है. नारायण राणे को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय का काम सौंपा गया है.