टॉवर नेता मनोहर कामरानी ने अपनी निजी ज़मीन का झूठ बोलकर लगवाया था।
/////

सरकारी जमीन पर रसूखदार नेता ने खड़ा किया मोबाईल टॉवर और की जमकर वसूली, ऐसे हुआ खुलासा

बुरहानपुर: मध्य प्रदेश के बुरहानपुर से सरकारी ज़मीन का इस्तेमाल कर धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। बुरहानपुर से रसूकदार नेता मनोहर कामरानी ने सरकारी ज़मीन को अपने नाम से बता कर मोबाईल टॉवर लगाया और बाकायदा ज़मीन मालिक की तरह पैसा भी लेता रहा। मामले का खुलासा होने पर विधुत विभाग ने मौके पर पहुँच बिजली कनेक्शन काट दिया है।

बुरहानपुर जिला संयुक्त कलेक्ट्रेट के पास ही टॉवर विजन कंपनी पाइवेट लिमिटेड द्वारा टॉवर लगाया गया है। यह टॉवर नेता मनोहर कामरानी ने अपनी निजी ज़मीन का झूठ बोलकर लगवाया था। जिसके बाद बुरहानपुर प्रेस क्लब अध्यक्ष डॉ. आंनद दीक्षित के द्वारा इस फर्जीवाड़े की शिकायत होने के बाद मौके पर कार्रवाई की गई और टॉवर का बिजली कनेक्शन काट दि गई है।

मामले में साफ़ तोर पर ज़मीन के बारे में चार सो बीसी कर धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। आइये आपको सुनाते है की इस मामले में कार्रवाई करने पहुंचे विधुत विभाग सहायक यंत्री कृष्ण कुमार जायसवाल ने क्या कहा। मामले में अब देखना यह है की प्रशासन आगे क्या कार्रवाई करता है? रसूकदार नेता मनोहर कामरानी के खिलाफ धारा 420 और अन्य धाराओं में मामला दर्ज होता है या नहीं।