///

अशोकनगर में अस्पताल से गायब हुआ बच्चा 28 घंटे बाद मिला

नवजात बच्चे को अस्पताल ने किसी और प्रसूता को थमा दिया था।

अशोकनगर। अशोकनगर जिला चिकित्सालय के स्टाफ की बड़ी लापरवाही के कारण अस्पताल में भर्ती प्रसूताओं के बच्चे बदल गए थे। नीलम नाम की प्रसूता का बच्चा किसी और को दे दिया गया था जिसके बाद परिजन बच्चे के लिए परेशान होते रहे लेकिन अब पुलिस की सक्रियता के कारण 28 घंटे के बाद बच्चा अपनी माँ के पास पहुंच पाया है। बच्चा ईसागढ़ के पास ड़ेंगा मोहचार गांव में मिला है।

लापरवाही से हुई थी अदला-बदली

अस्पताल के स्टाफ की लापरवाही के कारण एक माँ अपने नवजात बच्चे की सूरत 28 घंटे के बाद देख पाई है। मामला अशोकनगर के जिला अस्पताल का हैं जहाँ के प्रसूति वार्ड में भर्ती एक महिला का नवजात बच्चा अस्पताल प्रबंधन ने किसी और प्रसूता को दे दिया था। बच्ची के लिए पिछले 28 घंटे से परिजन इधर उधर भटक रहे थे। जिसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने बच्ची को ढूढ़ने एम्बुलेंस भी भेजी थी लेकिन बच्चा अब जाकर पुलिस की सक्रियता से 28 घंटे के बाद मिल पाया है।

शहर के नर्सिंग होम में भी हुई थी तलाश

घटना के बाद तहसीलदार ने अस्पताल पहुंचकर मामले का पंचनामा बनाया। गौरतलब है शहर के नर्सिंग होम में भी बच्ची की तलाश की गई थी। परिजनों ने इस संबंध में कोतवाली में भी ज्ञापन दिया था।