////

मंत्री उषा ठाकुर ने किसान नेताओं को बताया दलाल

कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने किसान आंदोलन को वामपंथी सोच करार दिया है।

इंदौर। नए कृषि कानून को लेकर मचा बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं और नए कानून को वापस लेने की मांग कर रहे हैं, वहीं सतापक्ष भाजपा के नेता कानून को किसान हितैषी बताकर इसको बेहतर बता रहे हैं। प्रदेश में कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने किसान आंदोलन के नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए काफी तल्ख टिप्पणी की है।

मंत्री उषा ठाकुर ने किसान नेताओं को बताया दलाल

कृषि कानून और किसान आंदोलन के चलते चारों तरफ से हमले झेल रही भारतीय जनता पार्टी और केंद्र सरकार का बचाव करते हुए राज्य की कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने किसान आंदोलन को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया है। उन्होंने किसान नेताओं पर निशाना साधते हुए उनको उच्च कोटी का दलाल बतलाया है। मंत्री उषा ठाकुर ने किसानों के नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए पंजाब और हरियाणा के प्रतिनिधियों को उच्च कोटि का दलाल कहा है। इंदौर में उन्होंने किसान आंदोलन पर भाजपा की रणनीति का जिक्र करते हुए कहा कि पंजाब और हरियाणा में उच्च कोटि के दलाल सुनियोजित तरीके से आंदोलन को चला रहे है,लेकिन झूठ का षड्यंत्र ज्यादा दिन तक नही चलेगा।

किसान आंदोलन को बताया टुकड़े-टुकड़े गैंग का षडयंत्र

साथ ही साथ उषा ठाकुर ने कहा कि वामपंथी सोच और टुकड़े-टुकड़े गैंग किसान आंदोलन में समाहित हो गई है और किसानों की परिस्थिति का फायदा उठाने की कोशिश की जा रही है जिसमें यह गैंग कभी कामयाब नहीं होगी। गौरतलब है पंजाब और दिल्ली के आसपास के कुछ इलाकों के किसान दिल्ली बॉर्डर पर लंबे समय से डेरा डाले हुए हैं।