/////

मिलिए भोपाल के Kite Man से, ये पतंग उड़ाते ही नहीं बल्कि पहनते भी हैं

जनवरी के महीने में आसमान में उड़ती पतंगें मकर संक्राति का संदेश दे देती हैं। मकर संक्राति के त्योहार पर नीला आसमान रंग-बिरंगी पतंगों से सज जाता है और पतंगबाजों को अच्छा मौका मिल जाता है। आप ने आसमान में पतंग उड़ाने का जुनून तो कई लोगों में देखा और सुना होगा, लेकिन क्या कभी ऐसे शख्स के बारे में सुना है जो पतंग को न सिर्फ उड़ाता है, बल्कि पतंग को पहनता भी है। जी हां, एमपी की राजधानी भोपाल में एक काइटमैन हैं, जो गोल्ड की पतंगों को गले में पहनते हैं।
भोपाल में एक छोटी सी दुकान में पतंग का होलसेल व्यापार करने वाले लक्ष्मी नारायण खंडेलवाल की पहचान पतंग बेचने के लिए नहीं बल्कि पतंगों के आभूषणों को पहने के लिए है। पुराने भोपाल के इतवारा क्षेत्र में लक्ष्मी टॉकीज के पास लक्ष्मी नारायण खंडेलवाल की दुकान हैं, वे पिछले 50 साल से पतंग बेचते आ रहे हैं, लेकिन पतंग के प्रति उनका ऐसा लगाव है कि वे गले में, कान में, अंगूठियों में गोल्ड की पतंगों को आभूषण के रूप में पहनते हैं।

वहीं मकर संक्रांति के अवसर पर स्मार्ट सिटी भोपाल में स्टेट फॉर पॉपुलर चैलेंज के तहत काइट फेस्टिवल का आयोजन किया गया। जिला प्रशासन और स्मार्ट सिटी के संयुक्त तत्वाधान में मकर सक्रांति के दिन यह आयोजन किया गया, जिसमें भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया संभागायुक्त स्मार्ट सिटी सीईओ आदित्य सिंह समेत शहरवासीयो ने पतंगबाजी का लुफ्त उठाया