///

Mecca: सऊदी अरब ने जारी की अब पैगंबर के पदचिन्हों की नायाब और दुर्लभ तस्वीरें

Start

Mecca: सऊदी अरब इन दिनों लीक से हटकर और विशेष कार्य कर रहा है। सऊदी की ये कार्य पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। कुछ दिनों पहले सऊदी प्रशासन ने मक्का के काले पत्थर की हाईडेफिनेशन तस्वीरें जारी की थी। अब उसने पैगंबर के पदचिन्हों की नायाब और दुर्लभ तस्वीरें पेश की है।

मकाम-ए-इब्राहिम की तस्वीरें जारी

सऊदी अरब ने मक्का की शाही मस्जिद में मौजूद मकाम-ए-इब्राहिम की तस्वीरें जारी की है। ये तस्वीरें देश के मक्का और मदीना मामलों के जनरल प्रेसीडेंसी के द्वारा ली गई है। इन तस्वीरों को लेने में उन्नत तकनीक का इस्तेमाल किया गया है। इसमें स्टैक्ड पैनोरमिक फोकस का उपयोग किया गया है। इस्लामिक मान्यता के मुताबिक, मकाम-ए-इब्राहिम उस पत्थर को कहा जाता है, जिसका इस्तेमाल इब्राहिम ने किया था। इब्राहिम ने पत्थर का इस्तेमाल मक्का में काबा की तामीर के दौरान दीवार बानने के लिए किया था, ताकि उसके ऊपर वह खड़े होकर दीवार की तामीर कर सके। जिसके बाद पत्थर पर उनके पैरों के निशान अंकित हो गए थे।

सोने, चांदी की फ्रेम में हैं संरक्षित

इब्राहिम (इस्लाम) के इन पैरों के निशान को बेहद पवित्र माना जाता है। निशानों को संरक्षित रखने के लिए पत्थर को सोने, चांदी और कांच के फ्रेम से सजाया भी गया है। इस्लाम धर्म के अनुयायियों का मानना है कि जिस पत्थर में पैरों के निशान हैं, वह सीधे स्वर्ग से काले रंग के पवित्र पत्थर हज-ए-असवद के साथ धरती पर आया था। पैंगबर इब्राहिम के पैरों के निशान का रंग सफेद, काला और पीला है और इसकी चौड़ाई, लंबाई और ऊंचाई 50 सेंटीमीटर बताई गई है. मकाम-ए-इब्राहिम खान-ए-काबा के दरवाजे के ठीक सामने मौजूद है ।