//

गलवान के शहीद कर्नल संतोष बाबू होंगे महावीर चक्र से सम्मानित, ऐसे किए थे दुश्मन के दांत खट्टे

सूत्रों के अनुसार कुछ और शहीदों को सम्मानित किया जा सकता है।

Start

नई दिल्ली। गलवान घाटी में अपने अदभुत पराक्रम से दुश्मन के दांत खट्टे करने वाले शहीद कर्नल संतोष बाबू को इस साल महावीर चक्र से नवाजा जाएगा। कर्नल संतोष बाबू ने देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए अपने प्राण गंवाए थे।

सीमा की रक्षा में गंवाई थी जान

गणतंज्ञ दिवस के अवसर पर हर साल देश की रक्षा में अदभुत पराक्रम दिखाने वाले सैनिकों को वीरता पुरस्कार दिया जाता है। सूत्रों का कहना है कि गलवान घाटी में पराक्रम का प्रदर्शन करते हुए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले कुछ और शहीदों को सम्मानित किया जा सकता है। इसके साथ पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए ASI मोहन लाल को भी वीरता पुरस्कार दिया जाएगा। मोहन लाल ने ही IED लगी कार को पहचान कर उसके बॉम्बर पर गोलीबारी की थी।

19 सैनिकों को मिली थी शहादत

गौरतलब है कि गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ झड़प में शहीद हुए कर्नल बी. संतोष बाबू चीनी पक्ष से हो रही शांतिवार्ता का नेतृत्व कर रहे थे, लेकिन देर रात हुई हिंसक झड़प में वो शहीद हो गए। 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफ‍िसर रहे कर्नल संतोष के साथ उस रात को 19 और जवानों ने भी अपने प्राण गंवाए थे। शहादत पाने वाले सैनिकों में नायब सूबेदार सतनाम सिंह और मनदीप सिंह भी शामिल थे।