/

आज से बदलें कई नियम, आम आदमी की जिंदगी पर पड़ेगा ऐसा असर

Start

नई दिल्ली। एक जुलाई से देश में कई बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। इन बदलावों का आम आदमी की जिंदगी पर सीधा असर पड़ेगा। एक ओर जहां इन नए नियमों से लोगों को राहत मिलेगी, वहीं दूसरी ओर अगर कुछ बातों का ध्यान नहीं रखा, तो आपको आर्थिक नुकसान भी हो सकता है। इन नियमों में बदलाव से आपकी जेब प्रभावित होगी, इसका प्रभाव आपके घर के बजट पर भी पड़ेगा। इसलिए इनके बारे में जानना आपके लिए बेहद आवश्यक है। इन बदलावों में भारतीय स्टेट बैंक द्वारा दी जाने वाली कैश निकासी की सुविधा, भारतीय स्टेट बैंक और आईडीबीआई बैंक द्वारा दी जाने वाली मुफ्त चेक की सुविधा, वाहनों के दाम आदि शामिल हैं ।

सिर्फ चार बार मुफ्त कैश निकासी

भारतीय स्टेट बैंक ने ग्राहकों को झटका दिया है। एसबीआई ने एक जुलाई 2021 से नए सर्विस चार्ज लागू किए हैं। एक जुलाई से बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खाताधारकों को बैंक के ब्रांच से या फिर एटीएम से मुफ्त में पैसे निकालने की सुविधा सिर्फ चार बार ही मिलेगी। यदि ग्राहक चार बार से ज्यादा निकासी करते हैं, तो बैंक इस पर चार्ज वसूलेगा।

महंगा पड़ेगा चेक का इस्तेमाल

बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट खाताधारकों को एसबीआई एक वित्त वर्ष में 10 चेक मुफ्त देगा। इसके बाद 10 चेक वाली चेकबुक के लिए आपको 40 रुपए के साथ जीएसटी का भुगतान करना होगा। वहीं 25 चेक वाली चेकबुक के लिए ग्राहकों से 75 रुपए के साथ जीएसटी वसूला जाएगा। आईडीबीआई के ग्राहकों को भी हर साल सिर्फ 20 पन्ने की चेकबुक मुफ्त मिलेगी। उसके बाद प्रत्येक चेक पन्ने के लिए ग्राहकों को पांच रुपये का भुगतान करना होगा।

बदलेगा आईएफएससी कोड

केनरा बैंक ने ग्राहकों को सूचित किया है कि सिंडिकेट बैंक का आईएफएससी कोड एक जुलाई 2021 से अमान्य हो जाएगा। दरअसल सिंडिकेट बैंक का मर्जर केनरा बैंक में हुआ है, जिसके बाद भी ग्राहक पुरानी चेकबुक का ही इस्तेमाल कर रहे थे। ग्राहकों की पुरानी चेकबुक 1जुलाई से काम नहीं करेगी।

वाहनों के दाम बढ़ेंगे

देश की सबसे बड़ी कार निमार्ता कंपनी मारुति सुजुकी एक जुलाई से अपनी गाड़ियों की कीमतों में बढ़ोतरी करने का फैसला कर चुकी है। इसके अलावा हीरो मोटोकॉर्प भी एक जुलाई से अपनी बाइक्स और स्कूटर के दाम बढ़ाने जा रही है।

दो रुपए लीटर महंगा अमूल दूध

गुजरात सहकारी दूध विपणन संघ ने बुधवार को कहा कि अमूल दूध की कीमतों में एक जुलाई से सभी ब्रांडों के लिए दो रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी की जाएगी। लगभग एक साल और सात महीने के बाद कीमतों में बढ़ोतरी की जा रही है।

50 लाख से ऊपर की खरीद पर टीडीएस

आयकर अधिनियम में हाल ही में सेक्शन-194 क्यू जोड़ा गया है। यह सेक्शन किसी सामान को खरीदने के लिए पहले से ही तय कीमत के भुगतान पर लगने वाले टीडीएस से जुड़ा है। नए सेक्शन के तहत 50 लाख रुपए से ऊपर की कारोबारी खरीद पर 0.10 फीसदी टीडीएस काटा जाएगा।