/

Maharashtra Flood:महाराष्ट्र में बाढ़ का कहर, भूस्खलन ने मचाई तबाही, सैकड़ों लोग लापता

Start

Maharashtra Flood: महाराष्ट्र में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है। गुरुवार शाम से लेकर अब तक बारिश की वजह से प्रदेश में 136 लोगों की मौत हो चुकी है। बाढ़ और भूस्खलन से प्रदेश में चारों तरफ हालत भयानक हो गए हैं।

दो दिन तक बारिश का रेड अलर्ट

बारिश से सबसे ज्यादा प्रभावित ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी, सतारा, सांगली और कोल्हापुर जिले हुए हैं। इन जिलों से NDRF,नौसेना और थलसेना ने अभी तक 8 हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुचाया है। मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के गोवा से सटे इलाकों में अगले दो दिन तक बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। इन जगहों पर एनडीआरएफ की 18 टीमों को तैनात किया गया है।

ट्रेनों का आवागमन हुआ प्रभावित

प्रदेशभर में 200 से ज्यादा गांवों का प्रमुख इलाकों से संपर्क टूट गया है। कई जगहों पर पटरियां पानी में डूब गई है, जिससे ट्रेनों के आवागमन पर इसका प्रभाव पड़ा है। भारी बारिश से पुणे-बेंगलुरु हाईवे बंद है। इस पर 20 किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतार नजर आ रही है। वहीं महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में भूस्खलन से मरने वालों की संख्या बढ़कर 44 हो गई है। शुक्रवार को तलाई गांव से 32 शव बरामद हुए, जबकि अन्य आसपास के गांव में मिले हैं।

भूस्खलन से मचाई तबाही

प्रदेश के शहरी विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने रायगढ़ में दुर्घटनास्थल का दौरा किया। उन्होंने कहा कि 80-85 लोग लापता हैं, इससे मृतकों का आंकड़ा बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। रत्नागिरी के पोलाडपुर तालुका के गोवेले पंचायत में गुरुवार रात करीब 10 बजे भूस्खलन हुआ था। इसकी जद में 10 घर आए थे। इसमें 6 लोगों की मौत हो गई है। सतारा के पाटन में भूस्खलन के बाद 30 लोग लापता बताए जा रहे हैं।