//

Mahant Narendra Giri: महंत नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी पर रहस्य बरकरार, मौत की CBI जांच की सिफारिश

Start

Mahant Narendra Giri: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil Bharatiya Akhara Parishad) के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़ा के महंत नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी पर अभी तक फैसला नहीं हुआ है। हालांकि महंत नरेंद्र गिरि बलवीर गिरि को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर चुके हैं, लेकिन निरंजनी अखाड़े के पंच परमेश्वर की बैठक में इस बात का फैसला होना अभी बाकी है।

वसीयत में बलबीर गिरि उत्तराधिकारी

सूत्रों के मुताबिक निरंजनी अखाड़े के पंच परमेश्वर की बैठक 25 सितंबर को होने की संभावना है और इस बैठक में महंत नरेंद्र गिरि के उत्तराधिकारी का फैसला हो सकता है। महंत नरेंद्र गिरि अपनी वसीयत में बलबीर गिरि को उत्तराधिकारी बना चुके हैं। इससे पहले महंतजी को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने वाले आनंद गिरी को उन्होंने अपना उत्तराधिकारी घोषित किया था, लेकिन बाद में उसको बेदखल कर दिया।

सीबीआई जांच की सिफारिश

महंत नरेंद्र गिरि के देहवसान पर समस्त अखाड़ों में सात दिवसीय शोक रहेगा। उधर, उत्तर प्रदेश सरकार ने बुधवार को महंत नरेंद्र गिरि की मौत की सीबीआई जांच की सिफारिश की है। इस मामले की सीबीआई जांच के लिए हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की गई थी। उत्तर प्रदेश के गृह मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की है। अब केन्द्र सरकार को इस मामले में फैसला करना होगा कि वह सीबीआई जांच चाहती है या नहीं।

गौरतलब है महंत नरेंद्र गिरि का शव उनके अल्लापुर स्थित बाघंबरी मठ में पंखे से लटका हुआ पाया गया। कमरे से बरामद सुसाइड नोट में उनके द्वारा खुदकुशी करने की बात कही गई और शिष्य आनंद गिरी और कुछ और लोगों पर उन्होंने प्रताड़ित करने का आरोप लगाया।