//

शराब ठेकेदार अर्जुन ठाकुर को पुराने विवाद में मारी गोली, हालत नाजुक

इंदौर। शहर में शराब ठेकेदार को कुछ गुंडों ने दिनदहाड़े गोली मार दी। ठेकेदार अर्जुन पिता वीरेंद्र सिंह ठाकुर की हालत नाजुक है। वारदात सोमवार शाम करीब 4 बजे सत्यसाईं चौराहा स्थित सिंडिकेट के ऑफिस के सामने हुई। लोगों ने गोली चलने की आवाज सुनी, तो सहम गए। वे कुछ समझ पाते, तब तक हमलावर भाग गए। घायल अर्जुन को राजश्री अपोलो अस्पताल ले जाया गया है। गोली अर्जुन के पेट में लगी है। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों से पूछताछ की। बताया जाता है कि दोनों के बीच शराब दुकान की लोकेशन को लेकर विवाद चल रहा है।

कई महीनों से शराब सिंडिकेट से जुड़े लोगों से विवाद चल रहा था।

प्रारंभिक तौर पर पता चला कि अर्जुन की एबी रोड स्थित रघुनाथ पेट्रोल पंप के सामने शराब दुकान है। इसे लेकर कई महीनों से शराब सिंडिकेट से जुड़े लोगों से विवाद चल रहा था। दो दिन पहले भी इसे लेकर विवाद हुआ था। यह दुकान पूर्व में अर्जुन के पिता संचालित करते थे। पिता के निधन के बाद अर्जुन ने जब से दुकान संभाली, तभी से विरोधी उस पर दुकान देने के लिए दबाव बना रहे थे। बदमाश इस लोकेशन को हासिल करना चाह रहे हैं।

गोलीबारी शराब कारोबारियों के सिंडिकेट आफ‍िस में हुई।

अर्जुन के पेट में दाएं तरफ गोली लगी होने की बात सामने आई है। फिलहाल स्थिति कंट्रोल में है। गोलीकांड के बाद शराब सिंडिकेट ऑफिस में कुछ लोगों ने तोड़फोड़ की। घटना के बाद अस्‍पताल के सामने भारी भीड़ जमा हो गई थी। बताया जा रहा है कि गोलीबारी शराब कारोबारियों के सिंडिकेट आफ‍िस में हुई। ठाकुर को पुराने विवाद में गोली मारी गई। आफ‍िस में समझौते के लिए बैठक हुई थी। सूत्रों के अनुसार गैंगस्‍टर सतीश भाऊ मौके पर मौजूद था।

इंदौर से मृदुभाषी के लिए चंकी बाजपेई की रिपोर्ट