//

रायगढ़ में 35 घरों पर गिरी चट्टानें, 40 की मौत करीब 100 लापता

Start

रायगढ़। महाराष्ट्र के रायगढ़ में बारिश की वजह से भीषण तबाही हुई है। चट्टानें गिरने से करीब 40 लोगों की मौत हो गई और 90 से ज्यादा लापता बताए जा रहे हैं। भूस्खलन को देखते हुए मृतकों के आंकड़े को बढ़ने की संभावना जताई जा रही है।

35 से ज्यादा घरों पर गिरा मलबा

महाराष्ट्र के विभिन्न इलाकों में इन दिनों खतरनाक बारिश हो रही है। इसकी वजह से लाखों लोग प्रभावित हुए हैं। रायगढ़ के तलई गांव में चट्टानों के धंसने से 40 लोगों की मौत हो गई और 100 के करीब लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। चट्टानों का मलबा गांव में 35 से ज्यादा घरों पर गिर गया। भारी बारिश से कोल्हापुर, रायगढ़, रत्नागिरी, पालघर, ठाणे और नागपुर के कुछ हिस्सों में बाढ़ आ गई है।

भूस्खलन से 8 की गई जान

इसके अलावा सतारा के अंबेघर गांव में भी भूस्खलन से 8 लोगों की जान चली गई और 20 लोग मलबे में दब गए। प्रदेश में हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कई शहरों, कस्बों और गांवों में घुस गया है। कोंकण, मुंबई और इसके आसपास के इलाकों के लिए मौसम विभाग ने अगले तीन दिन के लिए रेड अलर्ट जारी किया है।

इमारत ढहने से 4 की मौत

मुंबई से सटे गोवंडी में एक इमारत के ढहने से 4 लोगों की मौत हो गई। हादसे में दम तोड़ने वाले सभी लोग एक ही परिवार के हैं। घायलों को मुंबई के राजवाड़ी और सायन हॉस्पिटल में भर्ती करवाया है। कोंकण इलाके में बारिश की वजह से अभी तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 700 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है।