///

जानिये कैसी होती है नगरीय निकायों के अध्यक्ष और महापौर की आरक्षण प्रक्रिया

नगरीय निकायों में लॉटरी सिस्टम से होता है आरक्षण।

भोपाल। मध्यप्रदेश के नगर पालिका अध्यक्ष और नगर निगम महापौर के आरक्षण की बुधवार को भोपाल में कार्रवाई हुई। प्रदेश में महापौर की 16 सीटों के लिए आरक्षण संपन्न हुए हैं तो वहीं कुल 407 नगरीय निकायों के लिए आरक्षण हुए हैं। नगरीय निकायों के अध्यक्ष और महापौर पद के लिए आरक्षण की कार्रवाई की प्रक्रिया क्या होती है ये जानने के लिए मृदुभाषी की टीम ने वरिष्ठ पत्रकार शिव अनुराग पटेरिया से ख़ास बातचीत की।

महिलाओं को दिया जाता है आरक्षण 50 फीसद आरक्षण

नगरीय निकायों के अध्यक्ष और महापौर पद के लिए आरक्षण रूट और लॉटरी सिस्टम से होते हैं। आरक्षण के बारे में ज्यादा जानकारी देते हुए वरिष्ठ पत्रकार शिव अनुराग पटेरिया ने बताया कि आरक्षण रोटेशन प्रक्रिया से होता है साथ ही जनसंख्या भी आरक्षण में बड़ी भूमिका निभाती है। उन्होंने यह भी बताया कि आरक्षण के दौरान महिलाओं को 50% आरक्षण दिया जाता है।

नगरीय निकाय चुनाव का रास्ता हुआ साफ

गौरतलब है नगरीय निकाय में आरक्षण के बाद अब चुनावों का रास्ता साफ हो गया है और अब किसी भी समय नगरीय निकाय के चुनाव की घोषणा की जा सकती है। इस बार सभी 16 नगर निगम के चुनाव एक साथ होंगे, क्योंकि सभी का कार्यकाल समाप्त हो चुका है।