//

Janmashtami 2021: जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण के इन मंत्रों का करें जप, मिटेंगे कष्ट मिलेगी समृद्धि

Start

Janmashtami 2021: भगवान श्रीकृष्ण भक्तों के पालनहार हैं और क्षणमात्र का भक्ति से अपने भक्तों के दुखों को दूर कर देते हैं। बालकृष्ण की भक्ति से कष्टों का नाश और सुख-संपन्नता की प्राप्ति होती है। श्रीकृष्ण के मंत्रों का जाप कर आप बड़ी से बड़ी समस्या सा समाधान कर सकते हैं। आइए जानते हैं श्रीकृष्ण के कुछ विशेष मंत्रों को।

दुख-दरिद्रता और कलह-क्लेश के नाश के लिए श्रीकृष्ण के इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने।
प्रणत क्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नम:॥

प्रेम विवाह में सफलता पाने के लिए श्रीकृष्ण के इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

क्लीं कृष्णाय गोविंदाय गोपीजनवल्लभाय स्वाहा।’

शीघ्र विवाह के लिए श्रीकृष्ण के इस मंत्र का जाप करना चाहिए। देवी कात्यायनी का यह मंत्र अमोघ और सफलतादायक है।

कात्यायनि महामाये महायोगिन्यधीश्वरि।
नन्दगोपसुतं देवि पतिं मे कुरू ते नम:।।

यदि कोई गुरु न हो तो जन्माष्टमी पर इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

वसुदेव सुतं देवं कंस चाणूर्मर्दनम्।
देवकी परमानन्दं कृष्णं वन्दे जगद्गुरुम्।।

संतान प्राप्ति के लिए श्रीकृष्ण के इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

सर्वधर्मान् परित्यज्य मामेकं शरणं व्रज।
अहं त्वा सर्वपापेभ्यो मोक्षयिष्यामि मा शुच।।

दुख या क्लेश के निवारण के लिए श्रीकृष्ण के इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने।
प्रणत क्लेशनाशय गोविंदाय नमो नम।।