///

जामनिया मासूम दुष्कर्म, हत्या मामला, आरोपी को फांसी देने की मांग की

कार्रवाई न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई है।

जामनिया में मासूम बालिका के दुष्कर्मी हत्यारे को फांसी की सजा की मांग की गई है। इसके साथ ही पीड़ित परिवार की आर्थिक सहायता को लेकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया है।

जामुनिया में मासूम को बनाया था शिकार

प्रदेश में बेटियों और महिलाओं की सुरक्षा के लिए बने कड़े कानूनों के बाद भी बलात्कार व हत्या जैसी वारदातें रुकने का नाम नहीं ले रही है। मासूम बेटियां अभी भी हैवानियत का शिकार हो रही है। ऐसा ही एक सनसनीखेज मामला 11 जनवरी को खंडवा जिले के ग्राम जामनिया में सामने आया जहां एक किराना दुकानदार दिलावर राजपूत के यहां बिस्किट लेने गई मासूम के साथ दिलावर ने ना सिर्फ दुष्कर्म किया बल्कि उसकी हत्या भी कर दी।

समाज ने जताया आक्रोश

इस मामले में मासूम बालिका की लाश को ठिकाने लगाने में आरोपी की पत्नी ने भी उसका सहयोग दिया। इस पूरे घटनाक्रम से आरोपी दिलावर राजपूत के खिलाफ देशभर में संत श्री सिंगाजी गवली समाज में जबरदस्त आक्रोश है। शुक्रवार को इंदौर में संत श्री सिंगाजी गवली समाज संगठन द्वारा मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में करने, आरोपी दिलावर राजपूत को अतिशीघ्र फांसी की सजा सुनाये जाने के साथ ही पीड़ित परिवार को प्रदेश सरकार की ओर से आर्थिक सहायता मुहैया कराने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम एसडीएम प्रतुल सिन्हा को ज्ञापन दिया।

आंदोलन की दी चेतावनी

ज्ञापन के पूर्व समाज जनों ने एक आक्रोश रैली के रूप में नारे लगाते हुए हाथों में तख्तियां लेकर प्रदर्शन भी किया। संत श्री सिंगाजी गवली समाज संगठन के प्रदेश अध्यक्ष संजय पटेल, प्रदेश महामंत्री सुरेश कुमार यादव एवं जिला अध्यक्ष बलराम यादव ने कहा कि उपरोक्त मांगे नहीं माने जाने पर समाज देशभर में सड़कों पर आंदोलन करेगा।