///

Jal Satyagrah: इंदौर में कांग्रेस ने किसानों के समर्थन में किया जल सत्याग्रह

मांगें न मानने पर आमरण जल सत्याग्रह की चेतावनी दी है।

इन्दौर। कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं ने दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में दो घण्टे का सांकेतिक जल सत्याग्रह किया। जल सत्याग्रह को लेकर कांग्रेस नेताओं का कहना है कि मोदी सरकार की गलत नीतियों को लेकर और किसानों को समर्थन देने के लिए उन्होंने यह कदम उठाया है।

नए कृषि कानून को बताया किसान विरोधी

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव विवेक खण्डेलवाल ने कहा कि देश के लाखों किसान दिल्ली बॉर्डर पर मोदी सरकार द्वारा लाए गए किसान विरोधी काले कानून के खिलाफ 25 दिन से धरने पर बैठे है, लेकिन मोदी सरकार किसानों के वाजिब मांग सुनने की जगह उन्हें, आतंकवादी और माओवादी बताने में लगी हुई है। उनके मंत्री और स्वयं प्रधानमंत्री किसानों की समस्या हल करने के अपेक्षा किसान बिल को सही बताने के लिए रैली कर रहे है, जबकि मोदी सरकार की हठधर्मिता के कारण 22 किसानों की मौत धरना स्थल पर हो गई है।

आमरण जल सत्याग्रह की दी चेतावनी

किसान सिर्फ एमएसपी को काननू बनाने की मांग कर कर रहा है लेकिन मोदी सरकार अडानी -अंबानी के बनाये गए, कृषि कानून को बदल नही पा रही है, इसी के विरोध मे आज अहिल्या प्रतिमा उद्यान में बने कुंड में 2 घण्टे तक सांकेतिक जल सत्याग्रह किया और किसानों के समर्थन में नारे लगये और चेतावनी दी कि अगर जल्द ही किसानों के मांग नही मानी जायेगी तो जगह जगह मोदी सरकार के पुतले जलाए जाएंगे और आमरण अनशन न करते हुए आमरण जल सत्याग्रह किया जाएगा।