//

दान के आधार पर मंदिरों को खोलने से ज्यादा जरुरी है ,पहले आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाना

इंदौर। शहर मैं कई व्यवसायिक प्रतिष्ठान खुलने के बाद अब मंदिरों को खोलने की भी मांग सामने आ रही है। शहर में पहले आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर आने के बाद ही मंदिरों को खोला जाएगा । मंदिरों में दान राशि के आधार पर मन्दिर नही खोले जा सकते ।

इंदौर शहर में कई प्राचीन वह धार्मिक मंदिर शहर में स्थापित हैं ,जिन्हें खोलने को लेकर कवायद की जा रही है। लेकिन कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है कि शहर में सबसे पहले कोरोना की रोकथाम ही सर्वोपरि है। दान राशि के आधार पर कोई मन्दिर खोला जाए ऐसा अभी नहीं किया जा सकता है। वही कलेक्टर ने आगे कहा कि अभी आर्थिक गतिविधियों को संचालित करने के लिए ही गाइडलाइन के अनुसार शहर में व्यवसाय प्रतिष्ठानों को अनुमति दी जा रही है ताकि गरीब तबके के आदमी को रोजगार उपलब्ध कराया जा सके इसी के लिए शहर के कई व्यापारी एसोसिएशन सहित रहवासी एसोसिएशन ऑफ से बातचीत की जा रही है ताकि 100% वैक्सीनेशन के बाद ही वहां पर कार्य शुरू किया जा सके ।