//

इंदौर को मिलेंगे नए टूरिस्ट डेस्टिनेशन, रालामंडल में नाइट सफारी होगी जल्द शुरू

इंदौर। रालामंडल और उमरीखेड़ा के रूप में इंदौर को पूर्ण विकसित नए टूरिस्ट डेस्टिनेशन मिलेंगे। जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट की पहल पर दोनों स्थानों को और विकसित करने के लिए योजना को ठोस रूप दिया जाएगा। मंत्री तुलसीराम सिलावट के आमंत्रण पर वन मंत्री विजय शाह इंदौर पहुंचे और रालामंडल में प्रशासन और वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में रालामंडल में उपलब्ध संसाधनों और संभावनाओं पर विचार-विमर्श किया गया

मंत्री तुलसीराम सिलावट ने जोर दिया कि रालामंडल की परिधि में वन्य प्राणियों की संख्या बढ़ाई जाए। वन मंत्री विजय शाह ने कहा कि इसके लिए पानी के संसाधनों का निर्मित किया जाना बेहद जरूरी है। प्रमुख सचिव वन अशोक वर्णवाल ने कहा कि रालामंडल एक वन्य अभयारण्य है। यहां पर अन्य स्थानों से हिरण लाए जा सकते हैं।

बैठक में देवगुराड़िया एवं रालामंडल के बीच रोपवे के संचालन पर भी चर्चा की गई और इस संबंध में आवश्यक प्रस्ताव और योजना बनाने के निर्देश दिए। बैठक में नाइट सफारी शीघ्र प्रारंभ किए जाने पर भी सहमति बनी। यहाँ बटरफ्लाई पार्क भी विकसित किए जाने पर निर्णय लिया गया। बैठक में कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि रालामंडल पहुंचने के मार्ग का सुदृढ़ीकरण बेहद जरूरी है। बैठक में तय हुआ कि बायपास से लेकर अब रालामंडल के द्वार तक रोड का चौड़ीकरण किया जाए और अतिक्रमण हटाया जाएगा। बायपास के निकट रालामंडल का एक आकर्षक स्वागत द्वार भी बनाया जाए।

वन मंत्री ने चलाई जिप्सी

मंत्री विजय शाह ने बैठक के पूर्व मंत्री तुलसीराम सिलावट के साथ वन विभाग की जिप्सी में बैठकर रालामंडल के चारों तरफ की बाउंड्री का निरीक्षण किया। वन मंत्री विजय शाह ने इस दौरान खुद जिप्सी चलायी।