//

बीमारी ने छीन लिया था मां-बाप का साया,एएसपी प्रशांत चौबे ने ली लालन -पोषण की जिम्मेदारी

एएसपी प्रशांत चौबे ने ली लालन -पोषण की जिम्मेदारी

इंदौर। कोरोना महामारी के संक्रमण की चपेट में आने से हजारों लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। इस आपदा ने कई छोटे बच्चों से उनके माता -पिता का साया छीन लिया है। कई बच्चे अनाथ हो गए है। ऐसे में सरकार द्वारा भी इनकी मदद की जाने का आस्वाशन दिया गया है। वही मासूमों को कुछ लोगों ने गोद भी लिया है। वही शहर के पश्चिम एडिशनल एसपी प्रशांत चौबे ने भी अपनी ड्यूटी के दौरान 2 बच्चों को बिना माँ -बाप के देखा जिसके बाद उन्होंने उन बच्चों का लालन -पालन करने की जिम्मेदारी ली और जाकर स्कूल में एडमिशन कराया ।

इंदौर पुलिस अपने कार्यो से लेकर समाज में लोगों की मदद करने हेतु अक्सर उनके जीवन के बारे में भी सोचती हे। ऐसी एक संस्था पश्चिम एडिशनल एसपी द्वारा बुजुर्ग लोगों को भोजन देने का काम कर रही हे। इस दौरान एक बुजुर्ग महिला के पास जब ग्रुप के सदस्य भोजन देने पहुंचे तो महिला के पास बैठे दो मासूम बच्चों पर उनकी निगाह गई और उन बच्चों के बारे जब जानकारी जुटाई तो पता चला की वो बच्चे उनकी दादी के पास रहते हे उनके माता पिता की मौत हो चुकी हे बस यह जानकारी लगते से ही एडिशनल एसपी चौबे मालवा मिल स्थित बच्चों से मिलने पहुंचे और तत्काल ही अपनी पहल से एक निजी स्कूल के संचालक से बात कर दोनों बच्चो का स्कूल में निशुल्क एडमिशन भी करवा दिया ।