//

उच्च शिक्षित दंपत्ति ने अंधविश्वास में बेटियों की हत्या की और कही ये चौंकाने वाली बात

बेटियों को मारने के बाद मां ने खुद को बताया शिव।

Start

चित्तूर। आंध्र प्रदेश के चित्तूर में उच्च शिक्षित माता-पिता ने अंधविश्वास के चक्कर में अपनी ही बेटियों को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने दोनों के ऊपर हत्या का मामला दर्ज किया है।

तंत्र-मंत्र कर बेटियों की ली जान

एन पुरुषोत्तम नायडू मदनपल्ले के सरकारी महिला डिग्री कॉलेज के उप-प्राचार्य हैं और उनकी पत्नी पद्मजा एक निजी शिक्षण संस्थान की प्रिंसिपल कॉरेस्पोंडेंट के पद पर थी। आरोप है कि दोंनों ने अंधविश्वास में पड़कर अपनी दोनों बेटियों को मार डाला। पुलिस उपाधीक्षक रविमोहन अचारी ने बताया कि रविवार रात, माता-पिता ने घर में अनुष्ठान करने के बाद, अपनी छोटी बेटी साईं दिव्या पर एक त्रिशूल से वार कर दिया। बाद में उन्होंने बड़ी बेटी अलेखा के मुंह में एक तांबे का बर्तन रखा और उसके सिर पर डंबल से वार किया जिससे उसकी जान चली गई।” पुरुषोत्तम ने अपने एक सहयोगी को फोन किया और उसे इस घटना के बारे में बताया। उसके बाद पुलिस को सूचित किया गया।

आरोपी पद्मजा ने खुद को बताया शिव

मदनपल्ले पुलिस ने मंगलवार को अंधविश्वासी माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने दोनों के ऊपर हत्या का मामला दर्ज किया है। पुलिस जब आरोपियों को जब अस्पताल लेकर गई तो आरोपी पद्मजा ने परीक्षण कराने से इनकार कर दिया और कहा कि वह भगवान शिव हैं। पुलिस का कहना है कि यह धविश्वास से जुड़ा मामला है। दोनों पर आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है।