/

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी ने की लापरवाही, कीचड़ किनारे रखी दवाइयां बांटी

देपालपुर। देपालपुर में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई जहां लोगों को दी जाने वाली जीवन रक्षक दवाइयों को मिट्टी में कीचड़ से भरे गड्ढे के पास बिखेर कर आशा कार्यकर्ताओं को एक एएनएम द्वारा दवाइयां वितरित की गई। वही मीडिया ने जब फोटो वीडियो लिए तो एएनएम ने बिगड़े बोल में कहां की लेने दो वीडियो और फोटो क्या करेंगे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता।

जहां एक और देश भर में लोगों को कोरोनावायरस से बचाने के लिए शासन प्रशासन हर संभव प्रयास कर रहा है,वही सोशल डिस्टेंस मास्क और किसी भी सामान को देते समय सैनिटाइज करने की समझाइश भी खुद स्वास्थ्य विभाग ही दे रहा है। वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग के कुछ कर्मचारी शासन के आदेशों और नियमों की धज्जियां बिखेरते दिखाई दिए। जहां देपालपुर में बुधवार को पुराना जच्चा वार्ड पर आशा कार्यकर्ताओं की मीटिंग आयोजित की गई जिसके बाद कहीं गांव से आई हुई आशा कार्यकर्ताओं को अपने गांव में वितरण करने के लिए दवाइयां दी गई। जिसमें एक एएनएम द्वारा दवाइयों को थैलियों में भरकर सभा कक्ष के बाहर लाकर नीचे जमीन पर ही बिखेर दिया जहां पास ही कीचड़ का गड्ढा भी तस्वीरों में साफ दिखाई दे रहा है,और फिर उन दवाइयों को एक-एक कर आशाओं को वितरित किया गया ।

एएनएम आगरा क्षेत्र की है

ऐसे में सवाल यह उठता है कि जहां एक और स्वास्थ्य विभाग की गाइड लाइन है कि किसी भी चीज को छूने या उठाने पर उसे सेनीटाइज किया जाए वही लोगों की जान बचाने वाली स्वास्थ्य रक्षक दवाइयां नीचे गंदगी में कीचड़ किनारे एएनएम द्वारा बिखेर दी गई और उन्हें दवाइयों को आशाओं को भी वितरित कर दिया गया।

ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर चंद्रकला पंचोली से कि बात

वही पूरे मामले में स्वास्थ्य विभाग की कर्ताधर्ता जवाबदार ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर चंद्रकला पंचोली से बात की गई तो उंन्होने बताया कि में तो मीटिंग के लिए आई हूं साथ ही फोन पर बात करने पर उनका भी कहना है कि मैं क्या कर सकती हूं अगर एएनएम ने ऐसा किया है तो इसमें मैं क्या कर सकती हूं ज्यादा से ज्यादा लेटर लिख दूंगी ।

पूरे मामले में देपालपुर एसडीएम एवं एडीएम कुमार सिंह ने कहा कि मेरे संज्ञान में पूरा मामला आया है इसकी जांच करवाएंगे और अगर कोई दोषी पाया जाता है तो कार्रवाई की जाएगी।

देपालपुर से मृदुभाषी के लिए उदय सिंह की रिपोर्ट