/

जिम ट्रेनर ने की खुदकुशी: सुसाइड नोट में लिखा-प्रेमिका ना आए अंतिम संस्कार में नहीं तो मेरी आत्मा भटकेगी

इंदौर। इंदौर के छावनी इलाके में रहने वाले एक जिम ट्रेनर ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। जब भाई कमरे में क्रिकेट खेलने जाने के लिए जूते पहनने पहुंचा तो उसने फंदे पर झूलते देखा। ट्रेनर के कमरे से एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें उसने लिखा है कि- दोनों चचेरी बहनों को मेरा चेहरा मत दिखाना। प्रेमिका को भी अंतिम संस्कार में शामिल मत करना। अगर मेरी आखिरी इच्छा पूरी नहीं हुई तो आत्मा भटकती रहेगी।

लॉकडाउन की वजह से कुछ समय से गोपाल ने काम छोड़ दिया था

संयोगितागंज पुलिस के मुताबिक, मृतक का नाम गोपाल पुत्र विनोद वर्मा है, जो जिम ट्रेनर है। रविवार सुबह उसका शव भाई नितेश ने फंदे पर लटके देखा था। इसके बाद से वह उसे अस्पताल लेकर पहुंचा था। लॉकडाउन की वजह से कुछ समय से गोपाल ने काम छोड़ दिया था। जांच में बात सामने आई है कि उसका संपत्ति को लेकर परिवार में विवाद चल रहा था। इसमें वह चचेरी बहनों से नाराज था। पुलिस ने सुसाइड नोट जब्त किया है। गोपाल के दो भाई नितेश और अंकुश हैं। वहीं माता-पिता घर में ही रहते हैं।

अपनी मर्जी से कर रहा हूं सुसाइड

गोपाल ने सुसाइड नोट में अपनी मर्जी से आत्महत्या करने की बात कही है। उसने लिखा है कि वह जो भी कर रहा है खुशी से कर रहा है। भाई अंकुश ने बताया कि गोलू और मन्नू उनकी सगी बहनें नहीं हैं। वह चाचा की बेटियां हैं, जिनकी शादी हो गई है। कुछ समय से चाचा के परिवार से संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा है। विवाद में दोनों चचेरी बहनें दखल दे रही थीं। संभवत इसी कारण से गोपाल ने सुसाइड नोट में यह बात लिखी है।