//

जीआरपीएफ पुलिस बनी मसीहा, यात्रियों को दे रही दो समय का खाना

उज्जैन। शहर में कोरोना के संकट काल में अपनी जान की परवाह ना करते हुए और अपनी ड्यूटी निभाते हुए उज्जैन जीआरपीएफ के जवानों द्वारा महामारी में ट्रेनों से आवा – गमन कर रहे यात्रियों को जीआरपीएफ द्वारा दो वक्त का भोजन मुहैया करवा जा रहा है ।

जीआरपीएफ पुलिस का फर्ज दो तरह हो चला है कोरोना से जनता को बचाने के साथ घरों में सुरक्षित रखना और जो मुसाफिर ट्रेनों में एक जगह से दूसरी जगहों पर आवाजाही कर रहे है उन लोगों की भी देखभाल करना। ट्रेनों के लिए लोगों को घंटों स्टेशन पर खड़ा होना पड़ रहा है जिसको देखते हुए जीआरपीएफ जवानों द्वारा उन्हें दो वक्त का भोजन मुहैया करवा रहे है।

लोगों की समस्या देखकर जीआरपीएफ ने उठाया कदम

जीआरपीएफ थाना प्रभारी व पुलिस कर्मी भी इस सेवा भाव के काम मे हाथ बटा रहे है सैकड़ों मुसाफिर ट्रेनों से सफर कर एक जगह से दूसरे शहरों के लिए प्रयास कर रहे हैं ऐसे में उनको भोजन इत्यादि की परेशानी ना हो इसलिए हमने यह भोजन वितरण वह भी पूर्णता निशुल्क व्यवस्था कर दो वक्त का भोजन मुहैया मुसाफिरों को करा रहे हैं हमारा सोचना यह है जब तक लागू है तब तक कोई भी इंसान भूखे पेट ना सोए यही हमारा एकमात्र उद्देश्य है ।