///

भोपाल ,इंदौर ,जबलपुर ,ग्वालियर समेत अनेक जिलों के लिए, 17 के बाद भी रहेगा लॉकडाउन

भोपाल ,इंदौर ,जबलपुर ,ग्वालियर समेत अनेक जिलों के लिए 17 तारीख के बाद भी रहेगा लॉकडाउन

भोपाल। इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर समेत प्रदेश के अनेक जिलों में 17 मई के बाद भी लोगों को घरों में कैद रहना होगा। बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान की अध्यक्षता में संपन्न हुई बैठक में यह संकेत मिले ।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता से अपील की है कि वे कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करें। कोरोना संक्रमण को रोकने में व्यापक जन-सहयोग मिल रहा है। कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन होने से कोरोना महामारी धीरे-धीरे नियंत्रण में आ रही है।कोरोना के नए संक्रमित प्रकरणों की संख्या प्रदेश में अब चार अंकों में आ गई है। कोरोना संक्रमण में देश के बड़े राज्यों में मध्यप्रदेश 15वें स्थान पर आ गया है ।

पाॅजिटिविटी रेट पांच से कम होने पर ही निकल सकेंगे घर से बाहर

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि पॉजिटिविटी दर 5% से नीचे आता है तो यह कोरोना संक्रमण के नियंत्रित होने का संकेत है। ऐसे जिले जहां कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर 5% से नीचे आ गई है, वहां 17 मई के बाद धीरे-धीरे वैज्ञानिक ढंग से कोरोना कर्फ्यू को हटाया जा सकेगा। जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट बढ़ा रहेगा वहां कोरोना कर्फ्यू नहीं खुलेगा। बता दें कि जिलों के आंकड़े देखें तो केवल चार जिले खंडवा, भिंड, बुरहानपुर और छिंदवाड़ा में पॉजिटिविटी रेट 5% से नीचे है। मध्य प्रदेश में कोराना का पॉजिटिविटी रेट 27% तक है। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कर दिया है कि जिन भी जिलों में पाॅजिटिविटी रेट पांच या इससे कम नहीं होगा, वहां कर्फ्यू नहीं हटाया जायेगा ।

बता दे कि प्रदेश में 48 जिलों में कोरोना पाॅजिटिविटी रेट पांच से ऊपर है। जिला मुख्यालय और कस्बों के बाद कोरोना ने तेज गति से गांवों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। दूसरी लहर के बीच तीसरी लहर संबंधी संभावनाओं ने भी लोगों के साथ सरकार की चिंताएं बढ़ा रखी हैं।