////

इंदौर में गैंगरेप के आरोपी का करोड़ों का आलीशान फार्म हाउस प्रशासन ने किया ध्वस्त

Start

इंदौर। एमपी में भी अब अपराधी तत्वों के खिलाफ यूपी जैसा एक्शन लिया जाने लगा है। इंदौर में छत्तीसगढ़ की जिस 32 साल की टीचर के साथ बिल्डर और उसके दोस्तों ने डेढ़ महीने तक गैंगरेप और अमानवीय ढंग से प्रताड़ना दी, उसके खिलाफ सोमवार को प्रशासन का बुलडोजर चला। आरोपी राजेश विश्वकर्मा के अय्याशी के अड्डे मांगलिया फार्म हाउस को जेसीबी से गिराने की कार्रवाई हुई। फार्म हाउस की सुरक्षा दोहरी बाउंड्रीवाल से की गई थी जिसे प्रशासन ने गिरा दिया। प्रशासन ने बयान जारी कर बताया कि राजेश विश्वकर्मा का फार्म हाउस अवैध रूप से बना था। इसे कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देश पर एसडीएम रविश श्रीवास्तव व तहसीलदार ब्रह्मस्वरूप श्रीवास्तव ने पुलिस बल के साथ पहुंचकर जेसीबी से अवैध निर्माण को तोड़ने की कार्रवाई की। कलेक्टर सिंह ने कहा कि इंदौर अपराधियों के खिलाफ प्रशासन सख़्त से सख़्त कार्रवाई करेगा।
इससे पहले रविवार को उज्जैन में प्रशासन की ऐसी ही कार्रवाई देखने को मिली थी। दरअसल वहां चाइनीज मांझे से एक युवती की मौत के बाद प्रशासन ने अवैध रूप से चाइनीज मांझा बेचने वाले व्यापारियों के मकानों के अवैध निर्माण रविवार को जमीदोज कर दिए थे। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी सोमवार को चेतावनी दी है कि मप्र में अगर कोई चाइनीज मांझा बेचता पाया जाएगा तो उस पर उज्जैन जैसी ही कार्रवाई की जाएगी।

बना रखा था अय्याशी का अड्डा

फार्म हाउस करीब एक हजार वर्ग फीट में बना हुआ था। इसमें अय्याशी का पूरा सामान मौजूद था। अलग-अलग कमरे बने हुए थे। यहां बार भी बना हुआ था, जिसमें महंगे ब्रांड की शराब की बोतलें मिली। यहां लक्जरी आॅडी कार खड़ी थी और कॉटेज बना रखा था। घूमने के लिए छोटी गाड़ियां और स्पोर्ट्स साइकिल रखी थीं। इतना ही नहीं फॉर्म हाउस में सेक्स टॉय भी मिले हैं। इस फॉर्म हाउस में न्यूड पार्टियां भी होती थी। पुलिस जांच में पता चला है कि फॉर्म हाउस पर लड़कियों को भी लेकर आते थे। इनके साथ यहां अय्याशी करते थे। ज्यादातर लड़कियां बिल्डर का दोस्त विपिन और अंकेश लाते थे।

खुद को पहली पत्नी बताने वाली महिला आई सामने

सोमवार सुबह से प्रशासन ने आरोपी के फार्म हाउस को तोड़ने की कार्रवाई की। इसका एक हिस्सा तोड़ा गया है। कार्रवाई के दौरान आरोपी राजेश के चाचा और रिश्तेदारों ने अधिकारियों से कहा कि इसमें हमारा हिस्सा भी है। वह छोड़ दिया जाए लेकिन अधिकारियों ने उनकी नहीं सुनी। इसी दौरान खुद को राजेश की पहली पत्नी बताने वाली महिला भी मौके पर पहुंची और कहा कि अभी उसका आरोपी राजेश से तलाक नहीं हुआ है। जमीन पर उसका हक है। हालांकि पुलिस ने समझाया कि केवल अतिक्रमण ही तोड़ा है। फार्म हाउस को ध्वस्त करने के लिए चार जेसीबी का इस्तेमाल हुआ।

करोड़ों की जमीन बेची

राजेश के फार्म हाउस की कीमत 50 करोड़ रुपए से ज्यादा बताई जा रही है। फार्म हाउस के पास ही कुछ जमीन उसने करोड़ों में बेची थी।

नागदा का रहने वाला है राजेश

आरोपी राजेश विश्वकर्मा मूल रूप से नागदा (उज्जैन) का निवासी है। उसकी हरकतें शुरू से ही गलत रही जिस कारण घरवाले भी उसे पसंद नहीं करते थे। 2018 में उसे पिता ने घर से निकाल दिया था। इसके बाद से वह इंदौर में रहने लगा था और अपनी पुश्तैनी जमीन बेचकर शौक पूरे किया करता था। इसके लिए उसने मांगलिया में युवराज फार्म हाउस बना रखा था। वह करीब 20 साल से इस फार्म हाउस में रह रहा था। उसके पिता की नागदा में थ्रेशर बनाने की फैक्टरी है और बड़ा भाई भी पिता के साथ व्यापार संभालता है।

यह कहा आरोपी के वकील ने

आरोपी के वकील नीरज सोनी ने कहा कि महिला ने 1 करोड़ रुपए की डिमांड की थी। गैंगरेप के आरोप में फंसाने की धमकी दी थी।

  • 12:45 बजे दोपहर को मौके पर पहुंची टीम
  • 1 बजे से अतिक्रमण तोड़ने की करवाई की शुरू
  • 4 जेसीबी का इस्तेमाल हुआ फार्म हाउस तोड़ने में