///

किसान आंदोलन LIVE: किसानों ने ठुकराया सरकार का प्रस्ताव, राष्ट्रपति से मिलेगा आज विपक्ष

किसानों और सरकार में कोई सुलह नहीं।

नई दिल्ली | नए कृषि कानून को लेकर मचा बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक महीने से कड़ाके की ठंड में दिल्ली की सड़कों पर बैठे हुए किसान किसी भी तरह से झुकने के लिए तैयार नहीं है। वहीं आज विपक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में राष्ट्रपति से मुलाकात करेगा।

किसानों ने ठुकराया सरकार का प्रस्ताव

नए कृषि कानून के खिलाफ मोर्चा खोलकर बैठे किसानों ने सरकार की ओर से पेश ताजा संशोधनों को भी ठुकरा दिया है। इस मसले पर किसानों का कहना है कि सरकार बिना शर्त बातचीत करे और तीनों कानून वापस ले। वहीं राहुल गांधी के नेतृत्व में निकाले जाने वाले विपक्ष के मार्च को अनुमति नहीं मिली है। इसके साथ ही नई दिल्ली इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है और राष्ट्रपति भवन के पास सुरक्षा इंतजाम को सख्त कर दिया गया है। किसान आंदोलन पर राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि किसान त्रासदी से बचने के लिए आंदोलन कर रहे हैं, इस सत्याग्रह में हम सबको अन्नदाता का साथ देना होगा।

किसान सेना उतरी बिल के समर्थन में

वहीं किसान नेता गुरुवार को एक प्रेसवार्ता का आयोजन करेंगे। वहीं किसान सेना के समर्थक और बिल समर्थक किसान कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात करेंगे। 25 दिसंबर को पीएम मोदी हजारों किसानों से वार्तालाप करेंगे और उनके खाते में कृषि सम्मान निधि योजना की राशि भेजेंगे। गौरतलब है नए कृषि कानून के खिलाफ पंजाब और दिल्ली के आसपास के किसान एक महीने से आंदोलन कर रहे हैं। इनकी मांग है की नए कृषि कानून को वापस लिया जाए क्योंकि यह किसानों के हित में नहीं है।