//

इस जगह के किसानों ने बताया नए कृषि कानून को किसानों के हित में

किसानों का कहना है कि इस बिल से उनको फायदा हुआ है।

राजगढ़। एक ओर जहां दिल्ली में किसानों ने किसान बिल के विरोध में हंगामा मचा रखा है वहीं दूसरी ओर मध्यप्रदेश के राजगढ़ में किसानों की अलग ही राय है। किसानों ने किसान बिल का पूरा समर्थन किया है और कहा है कि यह बिल किसानों के फायदे के लिए है और उनको उनकी फसल का वाजिब दाम भी मिल रहा है। जबकि देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन कर रहे किसानों की प्रमुख चिंता ही फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य है।

केंद्र सरकार के द्वारा लागू किए गए किसान बिल को लेकर मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के किसानों ने किसान बिल के फायदे बताए है। किसानों ने कहा कि केंद्र सरकार के द्वारा लागू किया किसान बिल किसानों के लिए वरदान साबित हुआ है इससे किसानों को बहुत फायदा हुआ है। पहले किसान सिर्फ मंडियों में माल बेच सकता था लेकिन अब इस बिल के आ जाने से बिना परेशान हुए किसान मंडी के बाहर भी अपनी फसल को बेंच सकता है। अब किसानों को अपनी फसल का मूल्य भी अच्छा मिलता है।

नए कृषि कानून के पक्ष में बोलते हुए किसान शंकर लाल और संजय नागर ने कहा कि अब वो अपनी मर्जी के मुताबिक अपनी फसल को बेचने के लिए स्वतंत्र है। पहले मंडी में बेचना उनकी मजबूरी थी, लेकिन नए कृषि कानून की वजह से वह बाध्यता खत्म हो गई है। राजगढ़ के किसानों का किसान आंदोलन को लेकर साफ कहना है कि जो ये आंदोलन हो रहा है वह गलत है। किसनों को बिल के प्रति गुमराह किया जा रहा है।