सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो के अनुसार यह घटना लैंटर्न चौराहे की है।
/////

मास्क पहनने के नाम पर कर्मचारी कर रहे हैं अवैध वसूली, वीडियो हुआ वायरल

इंदौर। कोरोना की वजह से की जा रही सख्ती का कुछ लोग गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। कुछ ऐसा ही नजारा कई जगहों पर देखने को मिल रहा है। इंदौर में एक सरकारी महकमे के कर्मचारी मास्क लगाने की हिदायत देने के साीथ अवैध वसूली करते नजर आए।

वैटरनरी डिपार्टमेंट के कर्मचारी कर रहे अवैध वसूली

सरकार और प्रशासन ने कोरोना से बचाव के लिए कई बंदोबस्त किए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो करने के साथ मास्क को अनिवार्य किया गया है, ताकि लोग कोरोना की महामारी से बचे रहे और उनके आसपास मजबूत सुरक्षा कवच का निर्माण हो, लेकिन कुछ लोगों ने इस सख्ती को कमाने का जरिया बना लिया है। इंदौर में तो वैटरनरी डिपार्टमेंट के कर्मचारी बिना मास्क वालों के चालान बना रहे हैं। यहां तक कि ये कर्मचारी स्वयं को नगर निगम इंदौर का कर्मचारी बता रहे हैं। वैटरनरी विभाग के ये कर्मचारी मीडियाकर्मियों के साथ अभद्रता भी कर रहे हैं। 

लैंटर्न चौराहे की है घटना

सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो के अनुसार यह घटना लैंटर्न चौराहे की है। यहां एक बोलेरो जीप (एमपी 02 एवी 4766) आकर रुकती है। इसमें से कुछ अधिकारी, कर्मचारी उतरते हैं और बिना मास्क वालों के चालान काटने लगते हैं। तभी वहां से एक मीडियाकर्मी निकलता है। वह उनसे पूछने लगता है कि आप कौन से डिपार्टमेंट से हैं। इस पर एक कर्मचारी बोलता है कि नगर निगम के हैं और एक्टिवा पर बैठकर चल देता है। तभी मीडियाकर्मी दूसरे कर्मचारी से पूछता है, तो वह भी अपने गले में लटका हुआ आइडेंटटी कार्ड सामने करते हुए कहता है कि नगर निगम के हैं। जबकि, उसके कार्ड पर विभाग का नाम की जगह लिखा है कि गवर्नमेंट वैटरनरी सर्विसेस। इसके साथ ही वह अपना आई कार्ड पलटने लगता है। मीडियाकर्मी द्वारा लगातार बातचीत करने पर ये सभी कर्मचारी उससे विवाद करने लगते हैं।