Mradhubhashi
Search
Close this search box.

खुशखबरी : जिला पंचायत अध्‍यक्ष एवं उपाध्‍यक्ष, जनपद अध्‍यक्ष एवं उपाध्‍यक्ष, सरपंच, उप-सरपंच एवं पंचों के मानदेय में की गई 3 गुना वृद्धि – शिवराज सिंह

खुशखबरी जिला पंचायत अध्_यक्ष एवं उपाध्_यक्ष, जनपद

खुशखबरी : भोपाल – मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज जानकारी देते हुए कहा कि मुझे बताते हुए प्रसन्‍नता है कि जिला पंचायत अध्‍यक्ष एवं उपाध्‍यक्ष, जनपद अध्‍यक्ष एवं उपाध्‍यक्ष, सरपंच, उप – सरपंच एवं पंच, इन सबके मानदेय में 3 गुना वृद्धि की जा रही है

उन्होंने कहा पंचायती राज भारत की माटी में है, भारत की जड़ों में है। पंच और सरपंच तो एक जमाने में परमेश्वर माने जाते थे।

प्रदेश की 705 निर्विरोध निर्वाचित पंचायतों के लिए हमने अलग-अलग मापदंडों के अनुसार लगभग 55 करोड़ 20 लाख रुपये की राशि घोषित की थी, पिछले हफ्ते राशि जारी करने के आदेश हमने दे दिए हैं।

मुझे बताते हुए प्रसन्‍नता है कि जिला पंचायत अध्‍यक्ष एवं उपाध्‍यक्ष, जनपद अध्‍यक्ष एवं उपाध्‍यक्ष, सरपंच, उप – सरपंच एवं पंच, इन सबके मानदेय में 3 गुना वृद्धि की जा रही है

पंचायत पदाधिकारियों के मानदेय और अन्य सुविधाओं में वृद्धि की घोषणाएँ : -जिला पंचायत अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, जनपद अध्यक्ष, उपाध्यक्ष तथा उप सरपंच एवं पंच के मानदेय में लगभग 3 गुना वृद्धि की जाएगी।जिला पंचायत अध्यक्ष का मानदेय 11 हजार 100 रूपए से बढ़ाकर 35 हजार रूपए तथा वाहन भत्ता 43 हजार से बढ़ाकर 65 हजार रूपए किया जाएगा। अब जिला पंचायत अध्यक्ष को 54 हजार 100 रूपए प्रतिमाह के स्थान पर एक लाख रूपए प्रतिमाह मानदेय, वाहन भत्ता सहित मिलेगा।

जिला पंचायत उपाध्यक्ष का मानदेय 9 हजार 500 रूपए से बढ़ाकर 28 हजार 500 रूपए तथा वाहन भत्ता 9 हजार से बढ़ाकर 13 हजार 500 रूपए किया जा रहा है। अब जिला पंचायत उपाध्यक्ष को 18 हजार 500 रूपए प्रतिमाह के स्थान पर 42 हजार रूपए प्रतिमाह मानदेय वाहन भत्ता सहित मिलेगा।जनपद पंचायत अध्यक्ष का मानदेय 6 हजार 500 रूपए से बढ़ाकर 19 हजार 500 रूपए प्रतिमाह किया जा रहा है।जनपद पंचायत उपाध्यक्ष का मानदेय 4 हजार 500 रूपए से बढ़ाकर 13 हजार 500 रूपए प्रतिमाह किया जा रहा है।सरपंच का मानदेय 1 हजार 750 रूपए प्रतिमाह से बढ़ाकर 4 हजार 250 रूपए प्रतिमाह किया गया है।उप सरपंच एवं पंच को 600 रूपए वार्षिक मानदेय मिलता है, जिसे 3 गुना बढ़ाकर 1800 रूपए किया जा रहा है।

पंचायत प्रतिनिधियों से संवाद

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पंचायत प्रतिनिधियों से संवाद में कहा कि महात्मा गांधी नरेगा (मनरेगा) और अन्य योजनाओं के संबंध में पंचायत एंव ग्रामीण विकास विभाग का विस्तृत प्रस्तुतिकरण मार्गदर्शी सिद्ध होगा। ग्रामीण क्षेत्रों के विकास में सभी जनप्रतिनिधियों का विशेष सहयोग आवश्यक है। राज्य सरकार ने पंचायत पदाधिकारियों के हितों की चिंता की है।

मानदेय वृद्धि का निर्णय लिया गया है। हाल ही में रोजगार सहायकों का मानदेय 9 हजार से बढ़ाकर 18 हजार रूपए किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में अभियान संचालित कर पुराने कार्यों को पूर्ण किया जाए। नए कार्यों के क्रियान्वयन के साथ अपूर्ण कार्यों को पूर्ण करना आवश्यक है। शीघ्र ही वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पुन: संवाद का सत्र होगा।

ये भी पढ़ें...
क्रिकेट लाइव स्कोर
स्टॉक मार्केट