////

डेंगू से जंग, जनता के संग: प्रदेश में डेंगू के प्रकोप से सरकार की चिंता बढ़ी

Start

इंदौर। मध्यप्रदेश में कोरोना के बाद अब डेंगू ने सबकी चिंता बढ़ा दी है। हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि अब सरकार ने बुधवार से विशेष अभियान शुरू किया। डेंगू से जंग-आम लोगों के संग, नाम से ये अभियान सीएम शिवराज सिंह ने भोपाल में शुरू किया और जनता से अपील की सभी इसमें सहयोग करें। मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेशभर में इसकी शुरुआत की गई है। इंदौर के जनप्रतिनिधि और अधिकारी भी जगह-जगह घूमकर लोगों को बीमारियों की रोकथाम के उपाय बता रहे हैं।

डेंगू के खिलाफ विशेष महाअभियान

इंदौर नगर निगम ने बुधवार से विशेष महाअभियान शुरू कर लोगों को जागरुक करने का काम शुरू किया है। सांसद शंकर लालवानी ने विनोबा नगर बस्ती से अभियान की शुरुआत की। सांसद ने अलग-अलग क्षेत्रों में बीमारियों की रोकथाम के लिए दवाई का छिड़काव किया। उन्होंने जनता से अपील की कि जहां-जहां जलजमाव होता है, वहां सफाई कर दवाई जरूर छिड़कें। कलेक्टर मनीष सिंह, डीआईजी मनीष कपूरिया और निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने मालवा मिल क्षेत्र में लोगों को सावधानियां बरतने की नसीहत दी।

डेन 2 वायरस से बढ़ा खतरा

हालांकि सरकार और प्रशासन अपनी तरफ से लोगों में जागरूकता पैदा करने का काम कर रहे हैं, लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि मलेरिया विभाग की टीम और अन्य अमले केवल खानापूर्ति कर रही है। कुल मिलाकर सरकारी कोशिशें नाम मात्र की चल रही हैं। दरअसल डेंगू को लेकर सरकार की चिंता यह है कि डेंगू बुखार से पीड़ित लोगों में डेन 2 वायरस मिला है। डेन 2 वायरस तेजी से संक्रमित करता है, मौतों की संख्या बढ़ जाती है। डेन 2 वायरस तेजी से संक्रमित करता है, मौतों की संख्या बढ़ जाती है। इंदौर की बात करें तो डेंगू के चपेट में आने वालों मरीजों में अब तक 15 बच्चे शामिल है। इसके अलावा 23 से ज्यादा बुजुर्ग भी इसकी चपेट में आए हैं। वर्तमान में इंदौर शहर में रोज मिलने वाले डेंगू के औसत मरीजों का आंकड़ा 8 से बढ़कर 12 तक पहुंच गया है। इंदौर में डेंगू और मौसमी बीमारियों के मरीज इतने ज्यादा बढ़ गए हैं कि अस्पतालों में ओपीडी फुल हो गई है। एमवायएच में पैर रखने की जगह नहीं है। निजी अस्पतालों का भी यही हाल है। पवनपुरी, कुशवाह नगर, भंवरकुआं, तीन इमली समेत कई इलाकों में डेंगू के रिपीट मरीज मिल रहे हैं। एक बार सर्वे के बाद इन इलाकों में दूसरी बार फिर डेंगू के मरीज मिले हैं।

इंदौर में मात्र 938 घरों से लार्वा निकाल पाए

इंदौर में मलेरिया विभाग की टीम केवल खानापूर्ति कर रही है। समाचार लिखे जाने तक सरकारी टीम इंदौर शहर के मात्र 938 घरों से डेंगू का लारवा निकाल पाई। मलेरिया विभाग का दावा है कि उन्होंने इंदौर शहर के 45500 घरों का सर्वे कर लिया है। यदि जनता को डेंगू मच्छर से बचना है तो जहां भी रुका हुआ पानी है उसे खत्म करना होगा।

जहां मरीज मिले सिर्फ वहीं सर्वे

इंदौर में डेंगू के मरीजों की बढ़ती संख्या को देख मलेरिया विभाग का मैदानी अमला सिर्फ वहां सर्वे कर रहा, जिन इलाकों से मरीज मिले। अन्य इलाकों में सर्वे नहीं करा रहा। अधिकारियों के मुताबिक हर महीने 10 से 12 हजार घरों का सर्वेे कर रहे हैं। मलेरिया शाखा में 50-60 कर्मचारी हैं। कई को सीएमएचओ, सिविल सर्जन और अन्य जगह अटैच कर रखा है। एमजीएम मे डेंगू के सैंपलों की संख्या 30 गुना बढ़ गई है।

सरकारी जमीन पर पनप रहे हैं डेंगू के मच्छर

मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग, मलेरिया विभाग और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार लोगों से अपील कर रहे हैं कि अपने घर में पानी नहीं रुकने दें। कूलर और टंकियों की सफाई करें। यह अपील अच्छी बात है लेकिन चिंता का विषय सरकारी जमीनों पर भरा हुआ बारिश का पानी भी है। लगभग हर शहर में जितने मकान नहीं है उससे ज्यादा सरकारी जमीनों पर गहरे गड्ढे हैं। जहां पर भरे हुए पानी की सफाई नहीं होती। इसके कारण ही डेंगू मच्छर पनप रहे हैं।

सरकार की लोगों को सलाह

  • एक सप्ताह से अधिक समय तक किसी भी स्थान में जल जमा न होनें दें।
    -कूलर, टंकी, गमले, फूलदान, पुराना टायर, बेकार डब्बे, सकोरे, खाली प्लाट गडढों की सफाई करें।
    -लार्वा नियंत्रण हेतु टेमीफोस 50 प्रतिशत का घोल, बीटीआई पाउडर, बीटीआई लिक्विड जैसे रसायन का उपयोग करें।

डेन 2 वायरस सक्रिय

डेंगू का जब डेन 2 वायरस सक्रिय होता है तो उस समय मरीजों की संख्या में इजाफा तेजी से होता है। इंदौर में फिलहाल वायरस इसी स्थिति में है। जब डेन-3 व डेन-4 वायरस सक्रिय होता है तो डेंगू संक्रमण के कारण अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या ज्यादा होती है और उसके कारण मौत भी ज्यादा होती है। -डॉ. दौलत पटेल, जिला मलेरिया अधिकारी इंदौर

बढ़ रहे मामलों से चिंता

डेंगू के बढ़ रहे मामलों ने स्वास्थ्य विभाग को भी चिंता में डाल दिया है। हालांकि, उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से डेंगू से बचाव के लिए जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। -डॉ बीएस सेठिया, चीफ मेडिकल आॅफिसर इंदौर

लड़ाई में साथ आए जनता

राज्य के कई जिलों में डेंगू के मामले सामने आए हैं। इसको देखते हुए राज्य सरकार कई कदम उठा रही है। जनता को साथ आकर यह लड़ाई लड़नी होगी। लोग कोरोना की दोनों वैक्सीन जरूर लगवाएं। -शिवराज सिंह चौहान, सीएम

इंदौर में डेंगू की स्थिति

  • 13 नए केस डेंगू के मिले इंदौर में मंगलवार को।
  • 164 हो गई मरीजों की संख्या।
  • 55 फीसदी पुरुष संक्रमित
  • 45 फीसदी महिला मरीज ।
  • 20 से 25 डेंगू पॉजिटिव हर हफ्ते बड़े अस्पताल में पहुंच रहे हैं।
  • 20 से 30 गुना है निजी अस्पतालों में यह संख्या