////

Delta Virus: जल्द दस्तक दे सकता है डेल्टा वायरस से भी खतरनाक वेरिएंट, मच सकती है तबाही

Start

Delta Virus: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के और ज्यादा खतरनाक होने की आशंका जताई है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने इसके खतरे से आगाह करते हुए बताया है कि डेल्टा वेरिएंट का जितना अधिक संचरण होगा वह उतना ही ज्यादा भयानक बनकर उभरेगा।

वायरस बन सकता है तबाही की वजह

अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के 138वें सत्र को संबोधित करते हुए डब्ल्यूएचओ प्रमुख तेद्रोस गेब्रियेसस ने बताया कि संचरण की वजह से वायरस खतरनाक हो सकता है और वह तबाही की वजह बन सकता है। वायरस के जितने अधिक वेरिएंट होगे उससे फैलने वाली मौतें भी उतनी ज्यादा होगी। इससे हम सभी को उसी जगह पर वापस ले आएगा, जहां से टीकाकरण और इलाज आदि की शुरुआत की गयी थी। उन्होंने कहा कि दुनिया भर में टीकों के आविष्कार और टीकाकरण अभियान की बड़े पैमाने पर शुरू होने के साथ-साथ महामारी को रोकने के लिए अन्य निवारक उपायों के बावजूद विश्व एक और कोरोना वायरस लहर की कगार पर है। उन्होंने हर देश तक टीकों के समान पहुंच की कमी का इसकी बड़ी वजह बताया है।

वैक्सीन के वितरण पर जताई चिंता

टीकाकरण की विषमताओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि कम आय वाले देशों की आबादी के केवल एक फीसदी को वैक्सीन का कम से कम एक डोज मिला है। जबकि विकसित देशों में आधी से अधिक आबादी को वैक्सीन की एक खुरात मुल चुकी है। कोरोना के परीक्षण और उपचार सहित महामारी से लड़ने के लिए टीके और अन्य निवारक उपायों का असमान वितरण दुनिया के सामाजिक और आर्थिक उथल-पुथल’ में योगदान देता है, बल्कि काफी हद तक वायरस के आगे प्रसार के लिए भी जिम्मेदार है।

40 लाख से ज्यादा हो चुकी है मौतें

डब्ल्यूएचओ ने 11 मार्च 2020 को को कोरोना को महामारी घोषित किया था। जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के मुताबिक अब तक दुनिया भर में 19.13 करोड़ से अधिक लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं, और 40 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है।